DA Image
15 अगस्त, 2020|5:07|IST

अगली स्टोरी

40 गोवंशों की मौत की गूंज लखनऊ तक, प्रशासन में मचा हड़कंप

40 गोवंशों की मौत की गूंज लखनऊ तक, प्रशासन में मचा हड़कंप

बिनौली ब्लाक के धनौरा सिल्वरनगर गौआश्रय स्थल में महीनेभर में 40 गोवंशों की मौत की गूंज लखनऊ तक पहुंचने से जिला प्रशासन और पशुपालन विभाग में हड़कंप मच गया। गुरुवार को प्रमुख सचिव पशुपालन के आदेश पर मेरठ से डिप्टी डायरेक्टर मेरठ सहित डीएम व सीडीओ भी अधीनस्थ अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंच कर जांच-पड़ताल शुरू की। इस दौरान ग्रामीणों ने महीनेभर में अब तक 8 पशुओं की मौत होने की जानकारी दी।

गोवंशों की मौत बारिश के चलते गोआश्रय स्थल में कीचड़ की वजह से दलदल और दम घुटने की वजह से होना बताया गया। डीएम ने ग्रामीणों की बात सुनने के बाद बीडीओ, सचिव व प्रधानपति को जमकर हड़काया।बता दें कि गत जून 2020 को धनौरा सिल्वरनगर स्थित राजकीय पशु चिकित्सालय परिसर में गौआश्रय स्थल का निर्माण कराया गया था। शुरूआती दौर में गौआश्रय स्थल में 55 गोवंशों को रखा गया था।

इसकी क्षमता 80 पशुओं को रखने की थी, बावजूद इसके ग्रामीणों ने गौआश्रय स्थल में 155 गोवंशों को रख दिए। बताया जाता है कि बारिश के चलते गौआश्रय स्थल कीचड़ व दलदल में तब्दील हो गई थी। ग्रामीणों की मानें तो सही से रखरखाब और क्षमता से अधिक गोवंशों की होने की वजह से दम घुटने से गोवंशों की मौत होनी शुरू हो गई। एक महीने में 8 गोवंशों की मौत हुई है। जबकि किसी ग्रामीण ने लखनऊ में 40 पशुओं की मौत होने की शिकायत की।

मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रमुख सचिव पशुपालन ने तत्काल डिप्टी डायरेक्टर पशुपालन मेरठ और डीएम बागपत शकुंतला गौतम से वार्ता कर इसकी जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। गुरूवार को आनन-फानन में सभी आला अफसर मौके पर पहुंचे और इसकी जांच पड़ताल की। डीएम शकुंतला गौतम, सीडीओ हुबलाल, जिला पंचायत राज अधिकारी कुमार अमरेन्द्र आदि ने ग्रामीणों से पूछताछ की तो पता चला कि अब तक 8 गाय व गोवंशों की मौत हुई है। जबकि तीन गोवंशों की मौत तीन दिन पहले ही हुई थी। मौके पर दो गोवंश मृत पाए गए जबकि एक गोवंश को कुत्ता नोंचने में लगा हुआ था। उधर डिप्टी डायरेक्टर पशुपालन एवं डीएम बागपत के आदेश पर सीवीओ और डीपीआरओ ने इसकी जांच शुरू कर दी है।

155 में से 40 पशुओं का टैगिंग नहीं मिला, डीएम नाराज

धनौरा सिल्वर नगर की गौशाला में 155 पशु हैं जिसमें से 40 पशुओं की टैगिंग न होने पर डीएम ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी से नाराजगी व्यक्त की। साथ ही तत्काल 40 पशुओं की टैगिंग करने के निर्देश दिए। पशुओं का टीकाकरण कराने की भी बात कही। डीएम ने सूखा चारा, हरा चारा, खल चौकर आदि की पर्याप्त व्यवस्था का अवलोकन किया।

ग्राम प्रधान पर होगी निलंबन की कार्रवाई

डीएम शकुंतला गौतम ने डीपीआरओ कुमार अमरेन्द्र को निर्देशित किया कि ग्राम प्रधान रेखा देवी पत्नी वीर सिंह को निलंबन के लिए समिति गठित कर दी जाए। इनके द्वारा गौशाला में लापरवाही बरती गई है गौशाला के कार्य को गंभीरता से नहीं लिया गया है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हुबलाल ,जिला पंचायत राज अधिकारी कुमार अमरेंद्र ,खंड विकास अधिकारी बागपत स्मृति अवस्थी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा.खुशीराम, ग्राम प्रधान पति वीर सिंह आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Death of 40 cow dynasties echoed to Lucknow stirred up in administration