Dalit youth injured in beating in hospital - दबंगों की पिटाई से घायल दलित युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम DA Image
7 दिसंबर, 2019|5:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दबंगों की पिटाई से घायल दलित युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम

दबंगों की पिटाई से घायल दलित युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम

1 / 3सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के कमाला गांव में दबंगों की पिटाई से मरनासन्न हुए दलित युवक की सोमवार की सुबह उपचार के दोरान मेरठ के एक अस्पताल में मौत हो...

दबंगों की पिटाई से घायल दलित युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम

2 / 3सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के कमाला गांव में दबंगों की पिटाई से मरनासन्न हुए दलित युवक की सोमवार की सुबह उपचार के दोरान मेरठ के एक अस्पताल में मौत हो...

दबंगों की पिटाई से घायल दलित युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम

3 / 3सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के कमाला गांव में दबंगों की पिटाई से मरनासन्न हुए दलित युवक की सोमवार की सुबह उपचार के दोरान मेरठ के एक अस्पताल में मौत हो...

PreviousNext

सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र के कमाला गांव में दबंगों की पिटाई से मरनासन्न हुए दलित युवक की सोमवार की सुबह उपचार के दोरान मेरठ के एक अस्पताल में मौत हो गई। दोपहर बाद उसका शव गांव में पहुंचा तो कोहराम मच गया। मृतक के अंतिम संस्कार के बाद फिलहाल गांव में तनावपूर्ण शांति है और सुरक्षा की दृष्टि से गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।कमाला गांव में दलित धनपाल सिंह परिवार के साथ रहता है।

बताया कि 27 अप्रैल की शाम उसका 23 वर्षीय पुत्र आकाश अपने साथी मनीष के साथ सामान की खरीददारी करके गांव वापस लौट रहा था। आरोप है कि रास्ते में गांव के ही दबंग युवकों ने पहले तो जमंचे की नोंक पर कार में डाल लिया और फिर शमशान घाट पर ले जकर दोनों की जमकर पिटाई की गई। दबंग युवक उन पर गांव से दलित युवक के साथ फरार हुई गुर्जर समाज की लडकी को भगवाने में सहयोग करने का आरोप लगा रहे थे।

दोनों दलित युवकों को मरनासन्न हालत में छोडकर आरोपी मौके से फरार हो गए। मनीष ने किसी तरह परिजनों को इसकी सूचना दी तो वे उन्हें उपचार के लिए मेरठ ले गए। जहां लगातार इलाज के बाद भी आकाश की हालत बिगडती चली गई और सोमवार को उसकी मौत हो गई। पीड़ित के पिता धनपाल सिंह ने घटना की रिपोर्ट थाना सिंघावली अहीर में गांव के ही सात दबंगों को नामजद व तीन को अज्ञात बताते हुए दर्ज कराई थी।

पुलिस ने सभी नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। सोमवार को आकाश की मेरठ के अस्पताल में उपचार के दोरान मौत के बाद एक बार फिर गांव में तनाव की स्थिती पैदा हो गई जिसके चलते पुलिसबल तैनात कर दिया गया है। मृतक आकाश का शाम के समय अंतिम संस्कार कर दिया गया।

यह था मामला

कमाला गांव से पिछले दिनों गुर्जर समाज की एक विवाहित युवती दलित युवक के साथ चली गई थी। जिसके बाद दानों पक्षों में तनाव बना हुआ था। पुलिस ने युगल को मेरठ के परिक्षितगढ से बरमद करके दोनों को परिजनों को सौंप दिया था। आरोप है कि प्रेमी युगल की मदद करने के शक में दलित युवकों मनीष और आकाश को दबंग युवकों द्वारा उठाया गया तथा उनकी बेरहमी से पिटाई की गई। जिसमें आकाश की अस्पताल में सोमवार को मौत हो गई है। आरोप यह भी है कि इस वारदात से पहले गांव में दबंगों की पंचायत हुई और उसमें दलितों को सबक सिखाने का फरमान सुनाते हुए आरोपी युवकों को वारदात के लिये चुना गया।

मनीष ने बयां की बर्बरता की पूरी दास्तान

पेचकस से उखाड लिये उंगलियों के नाखूनघायल मनीष ने बताया कि आकाश का दोस्त गांव की एक गुर्जर समाज की युवती से प्रेम करता था। वह उसे लेकर गांव से फरार हो गया था। इसी बात को लेकर युवती के परिवार से जुडे दबंग युवक उनसे रंजिश रखने लगे थे।

27 अप्रैल की सुबह वह और आकाश सामान की खरीददारी करने लोनी गए थे। शाम के समय वहां से वापस लौट रहे थे। करीब छह बजे जैसे ही वे अमीनगर सराय-बिनौली मार्ग पर शराब ठेके के पास पहुंचे, तो वहां पहले से ही मौजूद आरोपियों ने उन्हें दबोच लिया और कार में डालकर शमशान घाट पर ले गए। वहां उन दोनों की पांच घंटों तक बेरहमी से पिटाई की गई। आकाश के तो गुप्तांगों पर भी प्रहार किए गए। पेचकस से आकाश के नाखून खींचे गए। जब वे दोनों पिटाई से बेहाल हो गए, तो दबंग युवक उन्हें नशीली गोलियां खिलाकर फरार हो गए। पूरी रात वे वहीं पर पड़े रहे। 28 अप्रैल की सुबह पता चलने पर परिजन उन्हें उपचार के लिए मेरठ ले गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dalit youth injured in beating in hospital