DA Image
3 मार्च, 2021|11:05|IST

अगली स्टोरी

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में गुप्तचर की भूमिका निभाएंगे चौकीदार

default image

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ग्राम चौकीदार पुलिस का सिरदर्द कम करते नजर आएंगे। पुलिस विभाग उन्हें गुप्तचर की भूमिका में उतारेगा। जिसके बाद चौकीदार अपने-अपने गांवों में ग्रामीणों के बीच होने वाली छोटी से छोटी बात भी पुलिस अधिकारियों को बताएंगे। जिससे चुनाव के दोरान पुलिस समय रहते अप्रिय घटना को घटित होने से रोक सकेगी और त्रिस्तीय पंचायत चुनाव को शांतिपूर्वक ढंग से संपन्न करा सकेगी।

बागपत जिले में लोकसभा चुनाव, विधानसभा चुनाव हो या फिर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव, सभी में पुलिस-प्रशासन का सिरदर्द बढ़ जाता है। चुनाव के दोरान कई बार तो छोटी-छोटी बातों को लेकर ही खूनी संघर्ष तक हो चुके है। पंचायत चुनाव के दोरान तो गांव-गांव में आपसी रंजिशों की बाढ़ सी आ जाती है, जो चुनाव के दोरान बड़े विवाद का रूप धारण कर लेती है। वर्ष 2015 में हुए चुनाव के दोरान भी जिलेभर के कई गांवों में चुनाव के दोरान खूनी संघर्ष की घटनाएं हुई थी, लेकिन इस बार प्रशासन त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को शांतिपूर्वक ढंग से संपन्न कराने की रूपरेखा तैयार करने में लगा हुआ है। इसी कड़ी में पुलिस विभाग ग्राम चौकीदारों को गुप्तचर की भूमिका सौंपने जा रहा है। पंचायत चुनाव के दोरान ग्राम चौकीदार अपने-अपने गांवों में ग्रामीणों के बीच होने वाली छोटी से छोटी बात को पुलिस अधिकारियों को बताएंगे। पुरानी रंजिश, चुनावी रंजिश और जमीनी विवाद में रंजिश रखने वाले ग्रामीणों की सूची तैयार कर उसे पुलिस अधिकारियों को सौंपेंगे। जिसके बाद पुलिस प्रशासन रंजिश रखने वाले लोगों को मुचलका पाबंद करेगी और चुनाव के दोरान गड़बड़ी करने पर उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचाने का काम करेगी। बता दें कि बागपत जिले में 400 से अधिक ग्राम चौकीदार तैनात है।

---

बवाली गांवों पर विशेष नजर...

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर पुलिस प्रशासन ने बवाली गांवों पर विशेष नजर रखनी शुरू कर दी है। इनमें खेकड़ा क्षेत्र के हसनपुर मसूरी, फखरपुर, गोठरा, सांकरौद, बड़ागांव, सुंहेड़ा, बसी ओर बंदपुर, बागपत ब्लाक के काठा, मवीकला, सरूरपुर, पाबला, निवाड़ा आदि, बडौत ब्लाक के बावली, बामनोली, लूम, तुगाना, मलकपुर आदि, पिलाना ब्लाक के पिलाना, दौलतपुर, ढिकौली, चमरावल, कहरका, डोला आदि गांव शामिल है। इसी तरह छपरौली ओर बिनोली ब्लाक के भी दर्जनों गांव ऐसे है, जिनमें गत चुनावों में या तो खूनी संघर्ष हुए या फिर विवाद। इस बार इन सभी गांवों पर उसने अभी से अपनी नजर रखनी शुरू कर दी है। एसपी ने संबंधित थाना प्रभारियों को इन गांवों के बवाली लोगों को चिंहित करने के निर्देश दे दिए हैं।

---

पुलिस विभाग की त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को शांतिपूर्वक संपन्न कराने की योजना है। इसी कड़ी में ग्राम चौकीदारों को गुप्तचर की भूमिका सौंपी जाएगी। वे अपने-अपने गांवों में होने वाली छोटी से छोटी घटना की जानकारी पुलिस को देंगे। जिसके बाद सम्बंधित थाना क्षेत्र की पुलिस एक्सन में आएगी और संबंधित के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

अभिषेक सिंह, एसपी बागपत

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chowkidar will play the role of a spy in a three-tier panchayat election