DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बागपत  ›  पर्यावरण के दिवस पर पर्यावरण के प्रति किया जागरुक
बागपत

पर्यावरण के दिवस पर पर्यावरण के प्रति किया जागरुक

हिन्दुस्तान टीम,बागपतPublished By: Newswrap
Sat, 05 Jun 2021 11:31 PM
पर्यावरण के दिवस पर पर्यावरण के प्रति किया जागरुक

बड़ौत। पर्यावरण दिवस पर शनिवार को नगर व देहात क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित हुए,जिनमें कुछ जगह पौधारोपण तो वर्चुअल संगोष्ठी में पर्यावरण के प्रति जागरुक किया गया।

नगर के जनता वैदिक कॉलिज में विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में पर्यावरण की वर्तमान परिस्तिथियों को ध्यान में रखते हुए भावी पीढ़ी को प्रदूषण कम करने, पर्यावरण के प्रति जागरूक करने, व पेड़ लगाने के लिए प्रेरित करने हेतु प्रतिष्ठित शिक्षण संस्था जनता वैदिक महाविद्यालय व हरित प्राण ट्रस्ट द्वारा वृक्षारोपण का एक वृहद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। हरित प्राण ट्रस्ट द्वारा महाविद्यालय को 100 पौध भेंट किये गए, जिन्हें प्राचार्य डॉ. सतीश चन्द शर्मा के मार्गदर्शन में महाविद्यालय परिसर में रोपित किया गया। वृक्षारोपण का कार्यक्रम विश्व पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या से शुरू हो चुका है। पौधरोपण में प्राचार्य डॉ सतीश चन्द शर्मा , डॉ मनोज कुमार शर्मा, मदनपाल सिंह, डॉ सतेन्द्र सिंह, मनोज कुमार शर्मा, डॉ अनिरुद्ध शर्मा, डॉ महेंद्र सिंह राठी, डॉ राजेश कुमार गुप्ता, डॉ लोकेन्द्र कुमार सिंह, डॉ अमरपाल सिंह, दीपक भारती, सुधीर कुमार, संजीव कुमार, उमानंद त्यागी, अरविन्द कुमार, राजेश व् अन्य का सहयोग रहा। बड़ौत के अलावा बिनौली,छपरौली रमाला व दाहा में भी कार्यक्रम आयोजित हुए।

भाजपा चेयरमैन के आवास पर हवन, पेड़ लगाए

बड़ौत। नगरपालिका चैयरमैन डा अमित राणा ने विश्व पर्यावरण दिवस एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन के उपलक्ष्य में अपने निवास पर हवन-यज्ञ कर नगर में कदम, अमरूद, बढ़, ओर पीपल के पेड़ लगाए।

पर्यावरण संरक्षण के लिए 'इस वर्ष की थीम 'पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली' पर वेबिनार आयोजित

बडौत। पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर खिदमत सोसाइटी द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस 2021 की थीम परिस्थितिकी तंत्र बहाली पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया।वेबिनार में मुख्य अतिथि के रूप में जनपद शामली की बीएसए गीता वर्मा तथा विशेष अतिथि डायट बडौत प्रवक्ता मंजू सैनी रहीं। टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज के पूर्व प्रोफेसर डॉ. संजीव राय ने कहा कि हमें प्रकृति के पारस्थितिकी तंत्र को फिर से बहाल करने के लिए उससे प्रेम करना चाहिए। मिशन 100 करोड ट्रीज के प्रणेता राजीव पटेल ने कहा कि हर व्यक्ति हर वर्ष एक पौधा लगायेऔर उसके अंदर उसको बचाने की चाहत होनी चाहिए। आईपी यूनिवर्सिटी दिल्ली के प्रोफेसर और गंगा एनवायरोटेक ट्रस्ट के सचिव अभिषेक स्वरूप ने कहा कि पुरानी परंपरा 'रिडयूस' अर्थात जरूरतों को कम करना,'रीसाइकल' अर्थात एक सामान को दूसरा भी प्रयोग कर ले और 'रीयूज' यानी सामान को दोबारा किसी अन्य रूप से इस्तेमाल करना चाहिए। उस्मान अहमद इंजीनियर ने कहा कि पर्यावरण की कडी जंगलों से जुडी हैं।हमें जल और जंगल बचाने चाहिए। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अनीस अहमद ने कहा कि प्रकृति ने हमें जो नेमत दी है उसका इस्तेमाल करने के साथ ही हमें उसकी देखभाल भी करनी चाहिए। डॉ० इरफान मलिक, सचिव समीर हसन और अजय तोमर ने सभी का आभार व्यक्त किया।

संबंधित खबरें