DA Image
21 अक्तूबर, 2020|3:26|IST

अगली स्टोरी

ढांचा विध्वंस पर फैसले पर अलर्ट रहा प्रशासन, जिले में रही शांति

default image

ढांचा विध्वंस पर फैसले पर अलर्ट रहा प्रशासन, जिले में रही शांति

-सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर शासन के आदेश पर जिलेभर में जगह-जगह तैनात रहा भारी पुलिसबल

-खुफिया जानकारी पर टिकी रही अफसरों की नजरें, लखनऊ से हुई मॉनीटरिंग

सचित्र-

बागपत। हिन्दुस्तान टीम

बुधवार को अयोध्या में ढांचा विध्वंस पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर सुबह से ही पुलिस व प्रशासनिक अमला अलर्ट नजर आया। जहां जिलेभर में जगह-जगह पुलिस तैनात रही और अफसरों ने खुफिया जानकारी पर नजरें टिकाए रखी। वहीं पूरा दिन लखनऊ मुख्यालय से भी जिले की स्थिति पर नजर रखी गई।

ढांचा विध्वंस पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर डीएम शकुंतला गौतम और एसपी अभिषेक सिंह के निदे्रश पर बागपत शहर में एसडीएम अनुभव सिंह, सीओ ओमपाल सिंह, इंस्पेक्टर नोवेंद्र सिरोही ने भारी पुलिसबल के साथ बगापत शहर के संवेदनशील मोहल्लों में घूमकर स्थिति पर नजर रखी। जिसके चलते बागपत शहर में दिनभर शांति कायम रखी और किसी भी तरह की अराजक गतिविधि नहीं हो सकी। जहां यातायात पुलिस ने राष्ट्र वंदना चौक पर चेकिंग अभियान भी चलाया। इसके अलावा बड़ौत नगर की फूंसवाली मस्जिद के बाहर सुबह से ही पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस ने उधर से गुजर रहे वाहनों की चैकिंग की। बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगों को कार्रवाई की चेतावनी दी। उधर बाबरी विध्वंस पर बुधवार को कोर्ट के फैसले को लेकर दोघट पुलिस अलर्ट रही। क्षेत्र में जगह जगह पैदल मार्च कर चेकिंग अभियान चलाया। साथ ही संवेदनशील इलाकों में पुलिस ने पैदल मार्च कर चेकिंग अभियान भी चलाया। जिससे वाहन चालकों में हड़कंप मचा रहा। इस मौके पर प्रभारी निरीक्षक मुनेंद्रपाल सिह, एसएसआई सुशील कुमार, एसआई श्रीओम गौतम भारी पुलिसबल के साथ तैनात रहे। उधर बिनौली, छपरौली, रमाला में पुलिस अर्लट रही। इसके अलावा खेकड़ा कस्बे, चांदीनगर, रटौल समेत अन्य ग्रामीण इलाकों में सीओ मंगल सिंह रावत के नेतृत्व में पुलिस मुस्तैद रही। जहां संवेदनशील इलाकों में अधिकारी दिनभर जमे रहे। बुधवार को जिलेभर में शांति कायम रहने पर अफसरों ने राहत की सांस ली।

---------------------

हिंदू संगठनों और भाजपाईयों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सराहा, मिठाई बांटी

-बड़ौत व खेकड़ा में हिंदू संगठनों व भाजपा के पदाधिकारियों ने किया खुशी का इजहार

बड़ौत। संवाददाता

बुधवार को विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद हिंदू संगठनों व भाजपाईयों में खुशी की लहर दौड़ गई। जिसमें ढांचा विध्वंस के सभी आरोपियों के बरी होने पर सभी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सराहा और मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया।

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद हिंदू जागरण मंच व अन्य संगठनों के कार्यकर्ता बड़ौत के नार्मल स्कूल स्थित नगर कार्यलय पर एकत्रित हुए। जहां उन्होंने एक दूसरे को लड्डू खिलाकर बधाई दी। जहां खुशी में नारेबाजी भी की। हिंदू जागरण मंच के जिलाध्यक्ष अंकित बड़ौली ने कहा कि ढांचा विध्वंस फैसला एक ऐतिहासिक फैसला है और सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से हर देशवासी खुश है। युवा जिलाध्यक्ष नितिन जैन ने बताया कि यह मामला पिछले 28 साल से लंबित पड़ा हुआ था, जिसमे सुप्रीम कोर्ट ने सभी 32 लोगों को बरी कर सभी को खुशी मनाने का मौका दिया। इस दौरान जयकुमार तोमर, पवन प्रजापति, पुनीत वर्मा, राहुल शर्मा, प्रमोद वत्स, सुनील मान, अमन शर्मा, रजत, तुषार, रितिक, रोहन ठाकुर, रोहित, टिंकू आदि मौजूद रहे।इसके अलावा खेकड़ा में भाजपा कार्यकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और मिठाई बांटकर खुशी का इजहार किया। इस दौरान राजपाल सिंह, संजीव शर्मा, तिलकराम वर्मा, महेन्द्रपाल गुप्ता, पुष्पेन्द्र कुमार, चेतन चंदेला आदि शामिल रहे।

30बाग6: बागपत के राष्ट्र वंदना चौक पर चेकिंग करते पुलिसकर्मी।

30बाग10: चांदीनगर में तैनात पुलिसकर्मी।

30 बाग 56: बड़ौत में एक-दूसरे को मिठाई खिलाते हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ता।

30 बाग 57: बड़ौत में फूंसवाली मस्जिद के बाहर तैनात पुलिस।

30 बाग 58: टांडा में तैनात पुलिस बल।

30बाग105: खेकड़ा में तैनात पुलिस।

निशांत भारद्वाज

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Administration was alert on the decision on the structure demolition peace remained in the district