ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश बदायूंअसलहे बनाने की दो फैक्ट्री पकड़ीं, पांच गिरफ्तार

असलहे बनाने की दो फैक्ट्री पकड़ीं, पांच गिरफ्तार

जिले में पंचायत चुनाव करीब आते ही अवैध असलहों का निर्माण भी शुरू हो चुका है। पुलिस ने आपरेशन पाताल के तहत इस्लामनगर व उसहैत इलाकों में पांच लोगों...

असलहे बनाने की दो फैक्ट्री पकड़ीं, पांच गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,बदायूंWed, 31 Mar 2021 03:21 AM
ऐप पर पढ़ें

जिले में पंचायत चुनाव करीब आते ही अवैध असलहों का निर्माण भी शुरू हो चुका है। पुलिस ने आपरेशन पाताल के तहत इस्लामनगर व उसहैत इलाकों में पांच लोगों को असलहे बनाते हुए पकड़ लिया। इनके पास से भारी मात्रा में बने-अधबने असलहे बरामद होने के साथ ही असलहे बनाने के उपकरण व अलग-अलग बोर की नालें भी मिली हैं। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा कायम कर लिया।

खुलासा एक

साइकिल रिपेयरिंग की दुकान में बन रही थीं राइफलें

इस्लामनगर। थाना इस्लामनगर पुलिस ने चंदोई गांव निवासी मुकीम की साइकिल रिपेयरिंग की दुकान पर छापामारी की। इस दौरान वहां से टीम ने

मुकीम समेत इमरान व जरा मोहम्मद निवासीगण गांव चंदोई थाना इस्लामनगर को हिरासत में ले लिया। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस के मुताबिक मुकीम असलहे बनाता है और बाकी के दोनों साथी इनकी बदायूं समेत आसपास जिलों में सप्लाई करते हैं। इनके पास से पुलिस ने एक तैयार तो एक अधबनी राइफल के अलावा छह तमंचे 315 बोर, इसी बोर के तीन अधबने तमंचे, दो बंदूक, एक पौनिया व दो तमंचे 12 बोर के साथ 315 बोर की बैरल, एक अधबनी बंदूक और पांच अधबने तमंचे भी बरामद किए। 12 बोर की 10 बैरल भी शातिरों के पास से मिली हैं। 21 कारतूसों के अलावा 23 खोखे भी मिला हैं। साथ ही असलहे बनाने के उपकरण भी आरोपियों के पास से बरामद हुए।

खुलासा दो

जंगल में असलहे बनाते दो गिरफ्तार

उसहैत। थाना पुलिस ने लालमियां निवासी गांव भुंडी व जसवीर निवासी दलनगला को गिरफ्तार किया। इनके पास से पुलिस ने एक तमंचा, एक बाटी के अलावा 315 बोर की बैरल,दो बैरल 12 बोर समेत चार बैरल बरमद कीं। असलहे बनाने के उपकरण भी आरोपियों के पास से मिले हैं। दोनों गांव के जंगल में असलहे बना रहे थे। पुलिस के मुताबिक इनके पास से बरामद खेप पंचायत चुनाव में ले जाने की कुछ लोगों की तैयारी थी। जिन लोगों को अभी तक इन्होंने असलहों की सप्लाई की है। उनके नाम-पते मिल गए हैं। उनकी भी तलाश का जा रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें