DA Image
28 नवंबर, 2020|9:22|IST

अगली स्टोरी

दो लेखपाल भी सूखा राहत चेक घोटाले में शामिल, 60 पर चार्जशीट

default image

सूखा राहत चेक घोटाले के मामले में पुलिस ने चार्जशीट लगा दी है। इनमें तत्कालीन तहसीलदार समेत दो मौजूदा लेखपाल भी शामिल हैं, अनुमति मिलते ही दो लेखपालों की गिरफ्तारी की जायेगी।साल 2015 में सूखा पड़ने पर शासन की ओर से किसानों को राहत देने के लिए 63 लाख रुपये आए थे। रकम मिलने के बाद जिम्मेदारों का ईमान डगमगा गया और तत्कालीन तहसीलदार बालकराम यादव के अलावा कई लेखपालों और जिम्मेदारों ने इस रकम से अपनी जेब भरने की ठान ली। नतीजतन किसानों के नाम ताबड़तोड़ चेक काटे गए।

राहत चेक घोटाले को 62 लोगों ने अंजाम दिया था। 60 लोगों ने रकम अपने खातों में ट्रांसफर कराई। घटना का मुकदमा दर्ज होने के बाद क्राइमब्रांच ने विवेचना शुरू कर दी। तत्कालीन तहसीलदार समेत चार लोग जेल भी भेजे गए। जबकि दो लेखपालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी गई है। अनुमति मिलते ही दोनों लेखपाल भी गिरफ्तार किया जायेगा। महिला भी सलाखों के पीछे उघैती के गंदरौली गांव की जमीला बेगम के नाम 27 व 26 हजार रुपये के दो चेक काटे गए थे। लेखपालों ने मृत लोगों के नाम भी चेक काटे और बैंक से रकम निकाल ली। उसे जेल भेज दिया गया। 60 अपात्रों के खिलाफ चार्जशीट की जा चुकी है। जबकि दो लेखपाल भी बेकनाब हुए हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी गई है। आगे की कार्रवाई अदालत के फैसले के आधार पर होगी। राकेश सिंह, इंस्पेक्टर क्राइमब्रांच

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Two accountants also involved in drought relief check scam charge sheet on 60