DA Image
12 जुलाई, 2020|5:21|IST

अगली स्टोरी

धान रोपाई से पहले होगी मिट्टी की जांच, कृषि विभाग गांव-गांव लेगा मिट्टी का नमूना

soil will be tested before planting paddy

भाजपा सरकार में किसानों की आय दोगुनी करने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इसके लिए वैज्ञानिक तकनीक से खेती कराई जा रही है और सबसे ज्यादा जोर मृदा परीक्षण पर है। कृषि विभाग द्वारा खरीफ की सीजन में मिट्टी के नमूने लेकर जांच कराई जाएगी। जांच के बाद रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही किसान खेतों में उर्वरक का प्रयोग करेंगे। अब तक प्रत्येक ब्लॉक से पांच गांव मृदा परीक्षण के लिए चयनित किए जाते थे। इस बार प्रत्येक ब्लॉक से 20 गांव चयनित किए जा रहे हैं। कृषि विभाग के कर्मचारी गांव गांव से मिट्टी के नमूने लेंगे और जांच कराएंगे। जांच के बाद रिपोर्ट कार्ड किसान को सौंपेंगे।

रिपोर्ट कार्ड में भूमि में किस तत्व की कमी है इसका पूरा जिक्र किया गया होगा। किसान उसी रिपोर्ट कार्ड के आधार पर उर्वरकों का प्रयोग करेंगे। ऐसा करने से निश्चित ही किसानों की आय में वृद्धि होगी और लागत कम आएगी। डीडी कृषि रामवीर कटारा ने बताया कि मिट्टी के नमूनों की जांच कराने की तैयारी पूरी कर ली गई है। इस संबंध में ब्लॉक स्तरीय कर्मचारियों के लिए दिशा निर्देश जारी किए जा चुके हैं। धान की रोपाई से पूर्व लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Soil will be tested before planting paddy