DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन मूसा भाई---जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन

जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन
मूसा भाई---जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन

1 / 3सूफी संतों की नगरी गुरुवार को गणपति बप्पा मोरया के उद्घोष से गूंज उठेगी। शहर में एक साथ कई स्थानों पर गणेश उत्सव की तैयारियां पूरी हो चुकी...

जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन
मूसा भाई---जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन

2 / 3सूफी संतों की नगरी गुरुवार को गणपति बप्पा मोरया के उद्घोष से गूंज उठेगी। शहर में एक साथ कई स्थानों पर गणेश उत्सव की तैयारियां पूरी हो चुकी...

जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन
मूसा भाई---जिले में 101 पांड़ालों में कल विराजेंगे गजानन

3 / 3सूफी संतों की नगरी गुरुवार को गणपति बप्पा मोरया के उद्घोष से गूंज उठेगी। शहर में एक साथ कई स्थानों पर गणेश उत्सव की तैयारियां पूरी हो चुकी...

PreviousNext

सूफी संतों की नगरी गुरुवार को गणपति बप्पा मोरया के उद्घोष से गूंज उठेगी। शहर में एक साथ कई स्थानों पर गणेश उत्सव की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। सोमवार को ही कई जगह गणपति की मूर्तियां आ गई।

जिनकी स्थापना गुरुवार 13 सितंबर की शाम की जाएगी। घरों में भी लोग भगवान गणपति को विराजमान कर पूजन करेंगे। समितियां रंगारंग कार्यक्रमों के साथ ही शोभायात्रा व अन्य कार्यक्रम भी करेंगी। वहीं बाजार में भी गणेश प्रतिमाओं की दुकानें सज गई हैं। दुकानदारों ने मुंबई से लेकर आगरा तक की मूर्तियों का ऑर्डर पर मंगाया है।

इस बार गणेश उत्सव को लेकर लोगों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है।जमकर हुई मूर्तियों की खरीदारीगणेश महोत्सव में अपनी भागीदार करने के लिए लोगों ने मंगलवार को बाजार में जमकर गणेश प्रतिमाओं को खरीदा। इस बार बाजार में कई किस्म की गणेश प्रतिमाओं के साथ ही टैडीवियर भी आए हैं। जिन्हें लोग खासा पंसद कर रहे हैं। सिविल लाइंस, टिकटगंज, खैराती चौक, नेहरू चौक, बड़ा बाजार, गोपी चौक, हलवाई चौक पहुंचकर लोगों ने पूजन के लिए गणेश प्रतिमाएं खरीदी।

सड़क किनारे बैठे हस्त शिल्पियों से भी लोगों ने मूर्तियां खरीदीं। दुकानदारों के मुताबिक नक्काशीदार मूर्तियों मंहगी हैं जबकि अन्य सामान्य रेट पर ही बिक रही हैं।मिट्टी की मूर्तियां का पूजनआयोजकों ने मिट्टी की मूर्तियां ही मंगवाई हैं। वही, ज्योतिषाचार्यो का भी मानना है कि विसर्जन करने पर मूर्ति का घुलना शुभ माना जाता है। अन्य जिलों से मंगवाई गई मिंट्टी की मूर्तियों का विसर्जन नदी के प्रदूषण का कारण नहीं बन सकेगा।

खासतौर पर महाराष्ट्र से करीब ढाई सौ से ज्यादा सफेद मिट्टी की मूर्तियां मंगाई गई हैं, जो गणेश पूजन पंडालों में गुरुवार को विराजमान होंगी।यहां होंगे प्रमुख आयोजनगणेश महोत्सव इस बार जिले में बड़े स्तर पर मनाया जा रहा है। बीते वर्षों के मुकाबले इस बार पांडलों की संख्या में जबदस्त इजाफा हुआ है। इस बार शहर में 80 तो देहात क्षेत्र में 21 स्थानों पर गणेश पांडाल बनाए गए हैं।

ऐसे में इस बार गणेश के रंग में पूरा जिला और भी अधिक रमा दिखाई देगा। शहर में प्रमुख आयोजन भोला धाम, लालपुल, चौधरी सराय, लोची नगला, चौबे मोहल्ला, कूंचा पांडा, ब्राह्मपुर, चित्रांश नगर, जालंधरी सराय, पक्का बाग में होगा। इनके साथ अन्य स्थानों पर आयोजन होंगे।भोलाधाम में विराजित होंगे बड़े लंबोदरशहर में सबसे बड़े सिद्धी विनायक भोला धाम में विराजमान होंगे। आयोजन समिति ने आगरा से नौ फीट ऊंची मूर्ति को मंगाया है।

जिसे ब्राह्मण धर्मशाला में रखवाया गया है। वहीं दूसरे स्थान पर हैं चौधरी सराय के लंबोदर जो सात फीट के हैं। यहां पर भी भक्तों की खासा भीड़ रहती है और इस बार नासिक डोल ग्रुप भी अपनी प्रस्तुति देने के लिए आ चुका है। ऐसे में गणेश शोभायात्रा में इस बार मुंबई की झलक साफ तौर पर दिखाई देगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Siddhi Vinayak will be present in 101 steps