DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बदायूं  ›  बिना डीएम अनुमोदन कर डाले सचिवों के तबादला
बदायूं

बिना डीएम अनुमोदन कर डाले सचिवों के तबादला

हिन्दुस्तान टीम,बदायूंPublished By: Newswrap
Fri, 25 Jun 2021 03:41 AM
बिना डीएम अनुमोदन कर डाले सचिवों के तबादला

बदायूं। संवाददाता

जिले में प्रशासनिक अफसरों के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। कलक्ट्रेट में अधिकारियों के बीच गुटबंदी चरम पर है। यह गुटबंदी पूर्व डीएम के समय से शुरू हुयी वर्तमान में चरम पर है। हालात यह है कि वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एक दृसरे का चेहरा तक नहीं देखना चाहते हैं। इसकी बागनी सामने आयी। डीएम अवकाश पर क्या गयी, मौका पाकर विकास भवन के अधिकारियों ने जिले के सबसे बड़े साहब के एक स्टेनो की मदद से सचिवों का तबादला कर डाला है।

इस पर डीएम से अनुमोदन भी नहीं लिया और सीडीओ से आदेश जारी करा लिया। तबादलों की पोल खुली तब खुली जब डीएम वापस लौंटी और फिर डीएम का पारा चढ़ गया। डीएम ने तलब विकास भवन के साहबों का जवाब मांगते हुये तबादला फाइल 24 घंटे के भीतर तलब की है।

गुरूवार को डीएम दीपा रंजन ने डीपीआरओ डॉ. सरनजीत सिंह कौर, डीडीओ चंद्रशेखर को तलब कर लिया। शाम को पहुंचे डीडीओ और सीडीओ ने अपना जवाब दिया है। डीएम ने दोनों ही अधिकारियों को इस प्रकार तबादला करने पर नाराजगी जतायी। डीएम ने फाइल को मंगाकर देखा तो पता चला कि सीडीओ निशा अनंत से आदेश जारी कराके सचिवों के तबादले कर डाले।

इन तबादलों पर डीएम का अनुमोदन नहीं लिया, जबकि डीएम के अनुमोदन के बिना तबादले नहीं किये जा सकते। डीएम का कहना है कि अधिकारियों को डांटा और कहा कि उनसे अनुमोदन लेने में क्या दिक्कत थी।

पंचायत राज विभाग के 12 तथा जिला विकास विभाग के 21 सचिवों के तबादला किये गये हैं। सूत्रों की मानें तो डीएम तीन दिन पहले अवकाश पर बाहर गईं थीं इसी बीच डीपीआरओ व डीडीओ ने सीडीओ से फाइल करा ली और आदेश जारी कर दिया है। बतादें कि तबादला नीति 15 जुलाई तक है जिसके तहत तीन वर्ष से लेकर ऊपर तक कार्यकाल पूरा होने वालों के तबादला किये हैं।

सचिवों के तबादला हमने अकेले नहीं किये हैं डीडीओ ने तो हम से ज्यादा तबादला किये हैं। सीडीओ से आदेश कराने के बाद हमने तबादला किये हैं हम नियुक्ति पदाधिकारी हैं, हम कर सकते हैं। तबादला में डीएम की कोई जरूरत नहीं है। ग्राम पंचायत आवंटन में डीएम की जरूरत पड़ती है।

डॉ. सरनजीत सिंह कौर, जिला पंचायत राज अधिकारी

डीपीआरओ और डीडीओ ने कुछ तबादला कर दिये हैं, गलत किया। हमारा अनुमोदन होना चाहिये। तबादला के मामले में काफी समय से वार्ता चल रही थी। तबादला कोई इतना बड़ा मामला नहीं है अगर कुछ आगे मामला सामने आता है तब देखेंगे।

दीपा रंजन, डीएम

संबंधित खबरें