DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बदायूं › वृद्धा की हत्या कर पश्चिम बंगाल में की लूटपाट, एक पकड़ा
बदायूं

वृद्धा की हत्या कर पश्चिम बंगाल में की लूटपाट, एक पकड़ा

हिन्दुस्तान टीम,बदायूंPublished By: Newswrap
Thu, 29 Jul 2021 04:02 AM
वृद्धा की हत्या कर पश्चिम बंगाल में की लूटपाट, एक पकड़ा

बदायूं। संवाददाता

बदायूं के दो युवकों ने पश्चिम बंगाल में वृद्धा की हत्या कर उसके घर से लाखों का माल-जेवर लूट लिया। घटना को अंजाम देकर दोनों यहां आ पहुंचे। इधर, इन शातिरों का पीछा करते हुए वहां की पुलिस टीम भी यहां आ गयी और एक आरोपी को स्थानीय पुलिस के सहयोग से धर दबोचा। दूसरे की तलाश में पुलिस टीमें विभिन्न स्थानों पर दबिश दे रही हैं। पकड़े गये आरोपी के पास से लूटे गये जेवरात भी बरामद हुये हैं।

पश्चिम बंगाल के जिला विद्यानगर के थाना लेकडाउन इलाके में 21 जुलाई 2021 को 60 वर्षीय दीपा मुखर्जी नाम की महिला की हत्या हुयी थी। कत्ल करने के बाद वहां रखा भारी मात्रा में रुपया व जेवरात भी लूटे गये थे। घटना का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने तफ्तीश शुरू की तो बदायूं के थाना सिविल लाइंस इलाके के सिलहरी गांव का दिनेश व बिनावर थाना क्षेत्र के खुनक गांव का इंद्रपाल के नाम प्रकाश में आये। बुधवार को पश्चिम बंगाल पुलिस टीम सिविल लाइंस थाने पहुंची। यहां पुलिस ने गोपनीय ढंग से जानकारी जुटायी तो पता लगा कि आरोपीगण गांव में नहीं हैं।

रिश्तेदारी में छिपा था दिनेश

पुलिस को पता लगा कि दिनेश लालपुल निवासी अपने रिश्तेदार के यहां छिपा हुआ है। पुलिस ने संबंधित स्थान पर दबिश देकर दिनेश को हिरासत में ले लिया। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने दो चेन, चूड़ी, कंगन व पांच जोड़ी कान की बाली बरामद कर लीं। लूट का बाकी सामान इंद्रपाल के पास बताया। पुलिस इंद्रपाल की तलाश में जुटी हुई है।

रेस्टोरेंट पर करते थे काम

पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपी वहां एक रेस्टोरेंट पर काम करते थे। वहां मुखर्जी दंपती खाना खाने जाते थे। उनके हाथ का बना भोजन दोनों को पसंद था। ऐसे में दोनों अक्सर उनके घर जाकर भी खाना बना आते थे। इसी दौरान दोनों ने लूट-हत्या की योजना बना ली। महिला का पति घटना वाले दिन कहीं बाहर गये थे और उसी दिन इन शातिरों ने वारदात को अंजाम दे डाला। आरोपीगण एक मोबाइल भी लूटकर लाये।

पश्चिम बंगाल पुलिस यहां पहुंची थी। उन्हें पूरा सहयोग किया गया और एक आरोपी पकड़ भी लिया है। दूसरे की तलाश में भी सहयोग कर रहे हैं। कोशिश यही है कि उसे भी जल्द पकड़ लिया जाये।

संजीव शुक्ला, एसएचओ सिविल लाइंस

संबंधित खबरें