DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आधी रात घर में घुसकर शव उठा ले गई पुलिस

आधी रात घर में घुसकर शव उठा ले गई पुलिस

जिले के उझानी कस्बा में दिल्ली पुलिस के सिपाही देख बहादुरगंज मोहल्ला निवासी युवक की दहशत में मौत हो गई। जिससे परिवार में कोहराम मच है, सिपाही दिल्ली में हुई चोरी के घटना में वांछित चल रहे बहादुरगंज निवासी अजय का कुर्की सम्मन लेकर आया था।

अजय के बारे में जानकारी करने वह किसी मोहल्लेवालों के बताने पर रवि राठौर के घर चला गया। अजय के बारे में पूछताछ करने के दौरान ही रवि की घबराहट में हालत बिगड़ गई। हालत बिगड़ती देख सिपाही मौके से निकल गया। इस मामले में देर शाम तक परिजनों ने पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी है। मगर उझानी पुलिस पोस्टमार्टम कराने के लिए दबाव बनाती रही, परिजनों ने पोस्टमार्टम से इंकार किया तो आधी रात को पुलिस बल आया और युवक के शव को छीनकर ले गया। शव न देने के लिए मृतक की महिलाओं से जमकर छीनाझपटी हुई और बहनों की चूड़ियां भी टूटकर हाथ में लग गईं। मगर कोतवाली पुलिस घर से उठाकर ले गई और पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। परिजनों ने उझानी पुलिस पर मारपीट व जबरन शव छीनने का आरोप लगाया है।

बतादें कि बहादुरगंज मोहल्ले में रवि राठौर का एक भाई जेल में बंद है। दूसरा भाई फिरोजाबाद में नौकरी करता है। वह मां के साथ घर पर रहता था। मोहल्ले का ही अजय दिल्ली के आनंद पर्वत थाने में चोरी का मामले में वांछित चल रहा है। जहां से विजय सिंह नाम का सिपाही कुर्की का सम्मन लेकर कोतवाली में आमद कराकर अजय के मकान की तलाश में बहादुरगंज मोहल्ले में गया। किसी ने सिपाही को बताया कि उसके बारे में रवि जानकारी दे सकता है। जिसके बाद सिपाही ने रवि के घर जाकर कड़ाई से पूछताछ की थी। जिससे घबराहट में रवि की मौत हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police took the dead body in midnight