DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली बंद तो रोड़ बंद, लालपुल पर जाम लगाया

बिजली बंद तो रोड़ बंद, लालपुल पर जाम लगाया

मुख्यमंत्री के सचेत करने के बाद भी बिजली अफसरों के रवैये में तनिक भी बदलाव नहीं आया। एक ओर जहां आधे शहर को चोर बताकर छह से आठ घंटे की रात 11 से तड़के तीन बजे तक एक मुश्त कटौती की जा रही है। वहीं लाल पुल इलाके में दो दिन से गुल बत्ती से लोगों को सड़क पर ला दिया।

नाराज लोगों ने लाल पुल पुलिस चौकी के पास बदायूं दिल्ली हाईवे पर जाम लगा दिया। जाम लगाने के बाद बिजली अधिकारियों, विधायक से लेकर मुख्यमंत्री तक के खिलाफ नारेबाजी की। नाराज लोगों के बीच शेखूपुर विधायक पहुंचे और उन्होंने बिजली अफसरों से अपने ही अंदाज में बात की। जिसके बाद दो दिन से जबरिया बंद की गई बत्ती 15 मिनट में आ गई। बिजली की समस्या पर करीब एक घंटे तक लालपुल चौकी के समीप मार्ग को लोगों ने बंद कर दिया और विधायक के आश्वासन पर जनता ने रोड़ को खोला। पुलिस ने जैसे-तैसे भीड़ को बिजली आने के बाद सड़क से हटाया है।मंगलवार की शाम चार बजे शहर के लालपुल पुलिस चौकी के पास इलाकाई महिला-पुरूष व बच्चों ने बरेली-मथुरा मार्ग जाम कर दिया। करीब एक घंटे तक रोड़ जाम रहा। इस दौरान विधानसभा क्षेत्र में भ्रमण कर लौट रहे शेखूपुर विधायक धर्मेंद्र शाक्य की गाड़ी भी जाम में फंस गई। विधायक को पता चला कि लोग बिजली न आने की समस्या पर जाम लगाए बैठे। इस पर शेखूपुर विधायक ने तत्काल अधीक्षण अभियंता विद्युत को फोन लगाया। कहा कि बिजली की सप्लाई लालपुल इलाके में क्यों बंद बिजली की सप्लाई तत्काल सुचारू कराएं लोग मजबूर होकर जाम लगाए हैं। इस पर अधीक्षण अभियंता ने विधायक को उपकेंद्र पर तकनीकि खराब का हवाला दिया और कहा पंद्रह मिनट में सप्लाई सुचारू कर दी जाएगी। इस पर विधायक ने लोगों को पंद्रह मिनट में बिजली सप्लाई का आश्वासन दिया। इस दौरान लोग एक ही बात कह रहे थे कि बिजली बंद, तो रोड बंद, जब तक बिजली नहीं आएगी रोड चालू नहीं किया जाएगा। विधायक के आश्वासन पर जनता ने पंद्रह मिनट बाद जाम को खोला तब तक बिजली सप्लाई भी शुरू हो गई।

शेखूपुर विधायक ने बिजली अधिकारियों को निर्दे्श दिए आगे से इस तरह की समस्या नहीं होनी चाहिए बिजली समय से मिले और खराबी के नाम पर ज्यादा देर तक बिजली की कटौती काम नहीं किया जाए। प्रदर्शन के दौरान लोगों ने बताया कि इलाके में दो दिन से बिल्कुल बिजली सप्लाई बंद है और लगातार बिजली विभाग के अफसरों से शिकायतें की जा रही हैं लेकिन बिजली विभाग के अफसरों ने दो दिन बाद भी बिजली सप्लाई शुरू नहीं की है। लोगों ने इस समस्या पर मंगलवार की सुबह डीएम से शिकायत की थी और चेतावनी दी थी कि दोपहर तक बिजली शहर नहीं हुई तो रोड जाम कर देंगे। रात 11 से तड़के तीन तक कटौतीबिजजी अधिकारियों की करतूत के चलते आधा शहर परेशान है। शहर के मुख्य बाजार से से लेकर प्रमुख कालोनियों, पॉश इलाकों में रात 11 से तड़के तीन बजे से बिजली गुल कर दी जाती है। यह सिलसिला करीब एक महीने से शुरू हुआ। इस इलाके के लोगों का कहना है कि दिन भर दुकान पर व्यापार व काम धंधा करते हैं। रात में सकून से सोने के लिए घर पहुंचते हैं तो बिजली गुल कर दी जाती है। जबकि सरकार ने रात आठ बजे के बाद बिजली कटौती पर रोक लगाई हुई है। लोगों का कहना है कि विधायक व प्रशासनिक अधिकारियों ने इस समस्या पर गौर नहीं किया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

ट्रांसफार्मर फुंका, ग्रामीणों में आक्रोशसालारपुर ब्लाक के दहेमी गांव में बिजली का ट्रांस्फार्मर पिछले दो सप्ताह से खराब हो गया है। जिसकी वजह से दहेमी गांव की बिजली सप्लाई बंद हो गई है। इसके चलते ग्रामीणों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है ग्रामीणों ने इसकी सूचना बिजली उपकेंद्र पर दे दी है, लेकिन इसके बाद भी बिजली विभाग के अफसरों ने अभी तक ट्रांस्फार्मर को बदलवाया नहीं है। इससे ग्रामीणों में आक्रोश पनप रहा है ग्रामीणों का कहना है कि बिजली विभाग के अधिकारी अपनी मनमानी कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:People protest against power cut