DA Image
23 नवंबर, 2020|3:15|IST

अगली स्टोरी

पहले से घर मे छिपा बैठा था ओमकार का कातिल

default image

कादरचौक के रेबा गांव में हुये ओमकार हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में पुलिस दूसरे दिन भी जुटी रही। इस दौरान परिवार वालों से भी एक-एक करके बात की गई। अंदरखाने पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि कातिल पहले से ही ओमकार के घर में छिपा बैठा था। अब उसने हत्याकांड को क्यों अंजाम दिया, यह तथ्य खुलना बाकी है। वहीं जिम्मेदारों का कहना है कि जल्द ही इस मामले में कुछ नए तथ्य मिल जायेंगे और उनके आधार पर घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

रेबा गांव का ओमकार अपने खेत से लौटकर आया और हाथ-मुंह धोते वक्त उसे आंगन में गोली मार दी गई। मारने वाला नकाबपोश था। इन तथ्यों के आधार पर पुलिस ने घटना का मुकदमा तो लिख लिया लेकिन तफ्तीश आगे बढ़ाई गई तो कई नए तथ्य उजागर होने लगे हैं। फिलहाल पुलिस की जांच इस सवाल पर अटकी हुई है कि जब कोई किसी की हत्या करने की फिराक में होगा तो भला उसका पीछा करते हुए घर तक क्यों जाएगा। क्योंकि इस वारदात को कातिल खेत से लेकर घर तक कहीं भी अंजाम दे सकता था। आखिर घर में ही ऐसा क्या था जो वो खुद अपनी जान जोखिम में डालकर घर में दाखिल हुआ और गोली मारकर भाग गया। ऐसे में यही कयास लगाया जा रहा है कि कातिल पहले से ही घर में छिपा हुआ था। घर में छिपने का मकसद पुलिस पता लगा रही है।

गांव वालों पर भी नजर : पुलिस ने यह भी खोजबीन शुरू कर दी है कि गांव के कौन से युवक घटना वाली शाम तक दिखे थे। जबकि कौन ऐसे युवक हैं, जो घटना वाली रात से गांव से नदारद हो चुके हैं। क्योंकि कातिल नकाबपोश था या नहीं यह दूसरी बात है लेकिन पूरी कहानी पर पर्दा उठाने के लिए हर पहलू पर जांच जारी है।

हर पहलू पर जांच की जा रही है। उम्मीद है कि कातिल जल्द पकड़ लिया जाएगा। कहानी में कुछ रहस्य हो सकते हैं लेकिन हर रहस्य को उजागर कर दिया जायेगा।

प्रयागराज सिंह, एसओ कादरचौक

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Omkar 39 s killer was already hiding in the house