DA Image
22 अक्तूबर, 2020|12:06|IST

अगली स्टोरी

बदायूं : मानव संपदा पोर्टल पर संशोधन कर रहे पांच कर्मियों को नोटिस

notice

बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों का मानव संपदा पोर्टल पर फीडिंग व संशोधन का काम देख रहे पांच कर्मचारियों को विभाग की ओर से नोटिस जारी किया गया है। शिक्षकों ने कर्मचारियों पर आर्थिक मांग करने व जानबूझकर देरी करने का आरोप लगाते हुए लिखित शिकायत की थी। सभी कर्मचारियों को दो दिनों के अंदर स्पष्टीकरण देने को निर्देशित किया गया है।

42 शिक्षक मिल चुके हैं फर्जी

जिले में फर्जी डिग्रीयों के सहारे नौकरी करने वाले कुल 42 शिक्षकों पर पहले ही कार्रवाई हो चुकी है। जिसमें से बीते दिनों दो शिक्षकों पर एफआईआर भी दर्ज की जा चुकी है। शेष बचे शिक्षकों पर यूनीवर्सिटी द्वारा फैसला लिया जाना है। शासन के आदेश पर सभी का वेतन रोक दिया गया था।

जिले में भी बनाई गई सूची

कस्तूरबा विद्यालय में फर्जी शिक्षकों के पकड़े जाने के बाद जिले में भी सभी 18 कस्तूरबा विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक व स्टाफ की सूची बनाई गई। जिसके बाद अब सभी के दस्तावेजों के साथ ही अन्य प्रमाण पत्रों की भी जांच होगी। यदि किसी के दस्तावेज में कोई भी कमी मिलती है, तो संबंधित के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पोर्टल पर चल रही फीडिंग

शासन ने फर्जीवाड़े को रोकने के मकसद से ही सभी शिक्षकों व कर्मचारियों की सर्विस बुक व अन्य प्रमाण पत्रों की फीडिंग मानव संपदा पोर्टल पर कराना शुरू कर दी थी। जिसके बाद ही जाकर प्रदेश में अब फर्जी शिक्षकों का खुलासा हो रहा है। ऐसे में अब जिले में भी कई शिक्षक ऐसे हैं, जो पोर्टल पर अपनी जानकारी को संशोधित कराने में जुट गए हैं। इसी का फायदा उठाने के लिए इन कर्मचारियों ने शिक्षकों से रुपए की मांग करना शुरू कर दी।

मामला गंभीर है, कर्मचारियों को नोटिस दे दिया गया है। दो दिनों में स्पष्टीकरण नहीं दिया तो सीधे तौर पर कार्रवाई की जाएगी।

रामपाल सिंह राजपूत, बीएसए

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Notice to five personnel doing amendments on Human Estate Portal