DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समरेर नवीन सीएचसी के नहीं सुधरे हालात, एफआईआर की संस्तुति

समरेर नवीन सीएचसी के नहीं सुधरे हालात, एफआईआर की संस्तुति

उत्तर प्रदेश विशेष सचिव के निरीक्षण में एक सप्ताह का समय कार्यदायी संस्था पैक्सपैड को दिया गया था। जिसके बाद अब सीएमओ ने समरेर की सीएचसी को देखा, तो हालात और ज्यादा खस्ता मिले हैं। सीएमओ ने कार्यदायी संस्था पर नाराजगी जताकर शासन को पत्र लिखा है।

जिसमें सीएमओ ने कार्यदायी संस्था पर एफआईआर की संसुति की है।बुधवार को सीएमओ डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने अधिकारियों की टीम के साथ समरेर सीएचसी पर पहुंचकर नई बिल्डिंग का निरीक्षण किया। इस दौरान नवीन सीएचसी बिल्डिंग के हालातों में कोई खास सुधार नहीं मिला है, यहां न तो शीशे लग पाए, नहीं फर्स और लाइटिंग का काम ठीक मिला। इसके अलावा सांप, बिच्छू और तमाम कीड़े घूमते हुए मिले हैं। बुधवार को यह निरीक्षण सीएमओ विशेष सचिव की समयावधि के बाद करने गए थे।

कुछ दिन पहले शासन से आए विशेष सचिव चिकित्सा ने भ्रमण के दौरान नवीन बिल्डिंग का निरीक्षण किया था, उस दौरान नवीन बिल्डिंग घटिया क्वालिटी से बनी हुई समाने आए थी, गुणवत्ता को लेकर स्वास्थ्य विभाग के जेई को फटकारा तथा चेतावनी दी थी। इसके अलावा कार्यदायी संस्था को एक सप्ताह में सुधारने के निर्देश दिए थे।एक सप्ताह में सुधार न होने पर एफआईआर करने के निर्देश दिए थे। सीएमओ इस निरीक्षण के बाद दो बार मॉनीट्रिंग कर चुके हैं।

इसके बाद भी हालात नहीं सुधरे, सीएमओ ने बुधवार को निरीक्षण किया तो बिल्डिंग के हालात देखकर वह खफा हो गए। इसके बाद उन्होंने डीएम को अवगत कराया है तथा शासन को कार्यदायी संस्था पर कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा है। जिसमें में बिल्डिंग ठीक न होने पर हैंडओवर न करने की स्थिति में तथा लापरवाही पर एफआईआर करने की संसुति की है। बतादें कि समरेर ब्लाक के कमा रोड पर वन रही सीएचसी बिल्डिंग वर्ष 13-14 में निर्माण के लिए कार्यदायी संस्था पैक्सपैड को जिम्मेदारी दी गई। कार्यदायी संस्था दो इमारत बनाने को तीन करोड अस्सी लाख का ठेका दिया जो निर्माण पूरा नहीं हुआ है।

पैक्सपैड कार्यदायी संस्था बिल्डिंग को बना रही है, विशेष सचिव ने निरीक्षण के दौरान चेतावनी भी दी थी, इसके बाद भी अभी तक बिल्डिंग हैंडओवर की स्थिति में नहीं हैं। निरीक्षण में मैंने देखा फर्स और शीशे नहीं सुधरे हैं, वहां सांप जैसे कीड़ा घूम रहे हैं। इससे पहले कार्यबारी के लिए दो बार पत्र भेज चुका हैं, अब शासन को एफआईआर के लिए संसुति की है।

राजेंद्र प्रसाद, सीएमओ

समरेर सीएचसी पर नवीन बिल्डिंग में जो काम अधूरा है उसे पूरा कराने के लिए कार्यदायी संस्था के अधिकारियों से बात की है, सीएमओ से बिल्डिंग चेक भी कराई है। मानक अनुसार बिल्डिंग तैयार की जाए, अगर इसमें मानकों पर गौर नहीं किया और बिल्डिंग तैयार करने में देरी कि तो कार्यदायी संस्था पर शासन से कार्रवाई कराएंगे।

राजीव कुमार सिंह, भाजपा विधायक दातागंज

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Not recommended improvement of Samar Naveen CHC FIR s recommendation