Medical College which reached MCI team inspected - एमसीआई टीम पहुंची मेडिकल कालेज, निरीक्षण किया DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमसीआई टीम पहुंची मेडिकल कालेज, निरीक्षण किया

एमसीआई टीम पहुंची मेडिकल कालेज, निरीक्षण किया

1 / 4राजकीय मेडिकल कालेज का एमसीआई टीम ने अपने पैरा मीटर के अनुसार निरीक्षण कर लिया है और टीम गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर चली गई...

एमसीआई टीम पहुंची मेडिकल कालेज, निरीक्षण किया

2 / 4राजकीय मेडिकल कालेज का एमसीआई टीम ने अपने पैरा मीटर के अनुसार निरीक्षण कर लिया है और टीम गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर चली गई...

एमसीआई टीम पहुंची मेडिकल कालेज, निरीक्षण किया

3 / 4राजकीय मेडिकल कालेज का एमसीआई टीम ने अपने पैरा मीटर के अनुसार निरीक्षण कर लिया है और टीम गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर चली गई...

एमसीआई टीम पहुंची मेडिकल कालेज, निरीक्षण किया

4 / 4राजकीय मेडिकल कालेज का एमसीआई टीम ने अपने पैरा मीटर के अनुसार निरीक्षण कर लिया है और टीम गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर चली गई...

PreviousNext

राजकीय मेडिकल कालेज का एमसीआई टीम ने अपने पैरा मीटर के अनुसार निरीक्षण कर लिया है और टीम गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर चली गई है।

जिस प्रकार से टीम मेडिकल कालेज की व्यवस्थाओं को देखकर रिपोर्ट बनाते समय विचार व्यक्त कर रही थी। उससे संभावना व्यक्त की जा रही है कि इस बार एमसीआई से मान्यता मिल सकती है। निरीक्षण में टीम ने पैरामीटर देखे और फिर चार घंटे पूछताछ की है।सोमवार को सुबह नौ बजे राजकीय मेडिकल कालेज बदायूं में दिल्ली एमसीआई टीम के अधिकारी पहुंच गए।

यहां जब अचानक एमसीआई के अधिकारी पहुंचे तो अफसरों में हलचल मच गई और टीम सीधे प्रिसंपल कक्ष में पहुंची। एमसीआई की टीम में नागपुर से डॉ. त्रिपुरे, गुजरात से डा. एसके पंडित शामिल रहे। इन्होंने प्रिसिंपल डा. आरपी सिंह तथा अन्य डाक्टरों के साथ इमरजेंसी को चेक किया जो पूरी की पूरी ठीक मिली है। इसके बाद पैरामीटर में चार ओटी, तीन माइनर ओटी चाहिए, जो निरीक्षण में ठीक मिलीं हैं। इसके अलावा आसीईयू और एसआईसीयू भी निरीक्षण में पूरे मिले।

इसके अलावा फिजिलॉजी तथा बायो कैमिस्ट्री विभाग भी पूरा मिला है। बाद में टीम ने एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड एवं ईको को देखा जो ठीक मिला है। इसके बाद जूनियर एवं सीनियर डाक्टरों से वार्ता की। इसके बाद इंमरजेंसी के वार्डों में पहुंचने के दौरान मरीजों से वार्ता की और उपचार व्यवस्था को लेकर बयान भी दर्ज किए हैं। वहीं वार्डों में 180 के सापेक्ष दो सौ बेड पर मरीज भर्ती मिले हैं।

एमसीआई टीम को एक-एक कक्ष और विभाग का निरीक्षण करा दिया है। मान्यता के लिए जो पैरामीटर है वो पूरा मिला है। टीम ने गोपनीय रिपोर्ट तैयार कर ले गई है, इस बार उम्मीद है कि एमसीआई से मान्यता मिल जाएगी।

डा. आरपी सिंह, प्राचार्य राजकीय मेडिकल कालेज

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Medical College which reached MCI team inspected