ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश बदायूंअतीक औक अशरफ के साले के दस मुलाकातियों का सत्यापन को भेजी सूची

अतीक औक अशरफ के साले के दस मुलाकातियों का सत्यापन को भेजी सूची

जिला जेल प्रशासन ने प्रशासनिक अधिकारियों को अ‌वगत कराकर प्रयागराज प्रशासन को भेजी सूची दस अक्तूबर को बरेली से बदायूं जेल में शिफ्ट किया गया था...

अतीक औक अशरफ के साले के दस मुलाकातियों का सत्यापन को भेजी सूची
हिन्दुस्तान टीम,बदायूंMon, 11 Dec 2023 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

अक्तूबर माह से बदायूं जेल में निरुद्ध माफिया रहे अशरफ के साले सद्दाम ने अपने दस परिचितों और नजदिकियों के नाम पर बताकर मुलाकात की मांग की है। इस पर जेल प्रशासन ने दस नामों की सूची को जिला प्रशासन से अ‌वगत कराते हुए प्रयागराज और बरेली जिला प्रशासन के लिये भेजी है। ताकि उन मुलाकातियों का सत्यापन हो सके। अक्तूबर माह से निरुद्ध सद्दाम से अब तक किसी भी परिचित की मुलाकात नहीं हुई है। इधर, जेल प्रशासन से पहले से ही सद्दाम को लेकर जेल में सर्तकता बढ़ा रखी है।
10 अक्तूबर को बरेली से माफिया अशरफ के साले सद्दाम को बदायूं जिला जेल में शिफ्ट किया गया था। उसी दिन सद्दाम के खास गुर्गे प्रयागराज निवासी आतिन जफर को रामपुर जेल भेजा गया है। जेल में सद्दाम के गुर्गे लल्ला गद्दी और फरहाद समेत नौ करीबी पहले से बंद थे। जिससे बरेली जेल में फिर से गिरोह पनपने की आशंका को लेकर यह कदम उठाया गया था। तब से सद्दाम बदायूं जेल में हाई सिक्योरिटी बैरक में निरूद्ध है। इस दौरान उसकी किसी से भी मुलाकात को लेकर पांबदी लगाई थी। अब सद्दाम ने अपने घरवालों, परिचितों और नजदीकियों से मुलाकात की मांग वकील के माध्यम से जिला प्रशासन से की थी। इसको लेकर जेल प्रशासन ने सद्दाम के वकील के माध्यम से उसके परिचित मुलाकातियों के नाम की सूची मांगी। वकील की ओर से दस नामों की सूची जेल प्रशासन सौंपी गई। जेल प्रशासन ने मामला हाई प्रोफाइल और माफिया भाइयों के साले से जुड़े होने के चलते उन नामों के सत्यापन के लिये जिला पुलिस प्रशासन को अवगत कराया है। इसके बाद उन मुलाकातियों के सत्यापन के चलते सूची को प्रयागराज और बरेली जिला पुलिस प्रशासन को भेजा गया है। इससे उन लोगों का सत्यापन हो सके।

बरेली जेल में थी सद्दाम से मिलने की बंदिश

माफिया अतीक अहमद के भाई अशरफ का साला सद्दाम पिछले दिनों दिल्ली से एसटीएफ ने गिरफ्तार किया गया था। सद्दाम उस दौरान दिल्ली में अपनी प्रेमिका से मिलने पहुंचा था। इसके बाद से सद्दाम को बरेली की जेल में तन्हाई की हाई सिक्योरिटी वाली बैरक में रखा गया था। यहां वह सामान्य बैरक में दूसरे बंदियों के साथ रखे जाने की जिद कर रहा था। लेकिन इस दौरान उसके नौ साथी भी बरेली जेल में बंद थे। जिसके चलते जेल प्रशासन ने उससे किसी की मुलाकात करने पर बंदिश लगा रखी थी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें