DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वकील के पुत्र ने घर में तमंचे से खुद का उड़ाया, मौत

वकील के पुत्र ने घर में तमंचे से खुद का उड़ाया, मौत

एलएलबी कर रहे अधिवक्ता के बेटा ने आखिरकार तनाव के चलते अपने आप को गोली से उड़ा लिया। आत्महत्या के बाद परिवार में जहां कोहराम मच गया। बेटे द्वारा उठाए गए इस कदम से होशहवास खोए वृद्ध पिता व अधिक्ता की हालत बिगड़ गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हाउस पहुंचाया। फॉरेंसिक टीम ने जांच के बाद इसे खुदकशी मना, मौके से बिस्तर पर पड़ा तमंचा बरामद किया।

थाना सिविल लाइन के मोहल्ला आदर्श नगर निवासी वीरेंद्र सक्सेना एडवोकेट के परिवार में मंगलवार की शाम को उस समय कोहराम मच गया। जब शाम करीब पांच बजे अपने कमरे में बंद होकर एलएलबी कर रहे बेटा रमन सक्सेना ने सिर को गोली से उड़ा लिया। कमरे के अंदर से अचानक फायर की तेज आवाज आई तो परिजन कमरा की ओर दौड़ पड़े। कमरा बंद था तो लोगों ने जैसे-तैसे कमरे को खोला तो देखा बेटा रमन सक्सेना कमरा में अपने बिस्तर पर खून से लथपथ पड़ा था। उसने सिर में तमंचे से गोली दागी हुई थी। यह सब देखते ही रमन के परिवार के होश उड़ गए और चीखते हुए लोग जमीन पर गिर पड़े। इधर मोहल्ला के लोगों ने आत्महत्या की घटना सिविल लाइंस थाना पुलिस को दी। घटना की सूचना पर पहले एसओ सिविल लाइंस फोर्स के साथ पहुंचे फिर एसपी सिटी जितेंद्र श्रीवास्तव भी घटना स्थल पर पहुंच गए। एसपी सिटी ने घटना स्थल का जायजा लिया है और फॉरेसिंक टीम को जांच पड़ताल के लिए लगाया है। इधर सिविल लाइंस थाना पुलिस ने युवक के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमाटर्म के लिए भेजा है। बतादें कि घटना के बाद प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो वीरेंद्र सक्सेना के चार बेटा हैं और रमन सक्सेना चौथे नंबर का बेटा था वह एलएलबी कर रहा था। लोगों का यह भी कहना है कि रमन मानसिक तनाव में था। घटना के बाद से रमन के परिवार का रो रोकर बुरा हाल हो गया है। बेटे की मौत पिता ने खोई सुधबुधबदायूं। बेटे द्वारा उठाए गए कम से अधिवक्ता वीरेंद्र सक्सेना सुधबुध खो बैठे। घर के कमरे में गोली चलने और बेटे की मौत होने से वे बेहोश हो गए। छोटे बेटे की शादी नहीं हुई थी, वे उसे वकालत पढ़ा रहे थे। इसी के साथ रमन उनका कचहरी में अभी से हाथ बंटाने लगा था। बेटे की मौत के बाद कुर्सी निठाल से हो गए। वीरेंद्र को लोगों ने संभालकर कुर्सी पर बैठाला और पानी पिलाया। होश आने पर वे एक ही बात कह रहे थे रमन तूने ये क्यों किया। किस बात की कमी थी। आखिर बुढापे में इतना बड़ा दर्द देकर क्यों चला गया। रमन की मौत के बाद परिवार में भी कोहराम मचा हुआ है।अधिवक्ता के बेटे ने तमंचे से सिर पर गोली मारकर खुद की जान ली। जांच में साफ हो गया कि मामला खुदकशी का है। जवान बेटे की मौत के चलते परिवार की हालत ऐसी नहीं थी कि उनहें उस समय कुछ भी जानकारी ली जाए। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव, एसपी सिटी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lawyer`s son committed suicide