JD education reached Badaun to probe - मृतक आश्रित नियुक्तियों की जांच करने पहुंची जेडी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मृतक आश्रित नियुक्तियों की जांच करने पहुंची जेडी

बेसिक शिक्षा विभाग में बीते लंबे समय से मृतक आश्रित नियुक्ति के घोटाले की जांच को दबाए जाने के बाद शासन तक इस मुद्दे की शिकायत हुई। जिसके बाद सोमवार को जेडी अंजना गोयल ने बीएसए कार्यालय पहुंचकर पटल देख रही लिपिक महजबी से संबधित नियुक्तियों के बारे में पूछताछ की। उनके द्वारा सवाल किए जाने पर लिपिक की हालत बिगड़ गई तो दूसरे लिपिक नदीन अहमद को भी बुला लिया गया।

लिपिक ने जेडी को बातों में उलझाने के काफी प्रयास किया लेकिन जेडी ने उसकी कोई बात नहीं मानी और संबधित कर्मचारियों की पत्रावली को अपने साथ ले गईं। सोमवार को जेडी ने बीएसए कार्यालय पहुंचकर मृतक आश्रित नियुक्ति को लेकर शासन स्तर पर हुई शिकायत को लेकर जांच शुरू कर दी। जेडी के आने से पहले ही कार्यालय में अफरातफरी का माहौल रहा। बीते सत्र में दिवाकर शर्मा ने शासन में शिकायत की थी कि कार्यालय में उसने शिक्षक पद पर नियुक्ति किए जाने को लेकर आवेदन किया था, लेकिन अर्हता कम होने के चलते बाद में उसने लिपिक पद के लिए आवेदन किया था। इस आवेदन के अलावा उसने कोई भी आवेदन नहीं किया था, लेकिन विभागीय कर्मचारियों और अधिकारियों ने एक अन्य को आर्थिक लाभ लेकर उसे लिपिक का पद दे दिया, जबकि उसे चतुर्थ श्रेणी की नियुक्ति दे दी। ऐसे में उसने संयुक्त शिक्षा निदेशक से लेकर मुख्यमंत्री तक का दरवाजा खटखटाया। जिसमें उसने बीते दिनों विभाग में नियम विरुद्ध की गई मृतक आश्रित नियुक्तियों के साक्ष्य भी प्रस्तुत किए थे।जेडी का बीते शुक्रवार को आने का कार्यक्रम था लेकिन अंतिम समय में वे नहीं आईं। सोमवार को सुबह 10.30 बजे बीएसए कार्यालय पहुंच गईं। जेडी ने बीएसए प्रेमचंद्र यादव के चेंबर में बैठकर मृतक आश्रित का पटल देख रही महजबी से सभी नियुक्तियों के बारे में जानकारी मांगी तो वह घबरा गई। जिसके बाद उनके भाई नदीम अहमद को चेंबर में बुलाया गया तो उन्होंने काफी देर तक उन्हें बातों में उलझाए रखा। उन्होंने पांचों मृतक आश्रित कर्मचारियों की पत्रावली को मंगा लिया। जिसमें प्रियंका खन्ना, अचला राठौर, अमित भास्कर, नीलम यादव, दिवाकर शर्मा शामिल हैं। इन सभी की पत्रावली को वे अपने साथ बरेली ले गईं। मृतक आश्रित नियुक्तियों को लेकर शासन स्तर पर शिकायत हुई थी, जिसकी जांच की जा रही है। पत्रावलियों की गहनता से जांच करने के बाद रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। दोषियों पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।अंजला गोयल, जेडी शिक्षा विभाग

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JD education reached Badaun to probe