DA Image
20 अक्तूबर, 2020|12:44|IST

अगली स्टोरी

संयुक्त आयुक्त पहुंचे जांच को, महिलाओं ने काटा हंगामा


संयुक्त आयुक्त पहुंचे जांच को, महिलाओं ने काटा हंगामा

संयुक्त आयुक्त उद्योग अयोध्या बुधवार को जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केंद्र पहुंचे। उन्होंने सहायक आयुक्त उद्योग धर्मेंद्र कुमार भास्कर पर लगे आरोपों की जांच की। जांच अधिकारी ने सहायक आयुक्त उद्योग एवं शिकायतकर्ताओं के ब्यान दर्ज किये। इसी दौरान पहुंची कुछ अन्य महिलाओं ने सहायक आयुक्त उद्योग पर गंभीर आरोप लगाते हुए हंगामा काटा। सहायक आयुक्त उद्योग ने जांच रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को सौंपे जाने की बात कही है।

जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केंद्र बदायूं में तैनात सहायक आयुक्त उद्योग धर्मेंद्र भास्कर की गंभीर आरोपों में शासन तक शिकायत हुयी थी। इन्हीं सब आरोपों की बुधवार को संयुक्त आयुक्त उद्योग अयोध्या एचपी सिंह द्वारा जांच की गयी। सहायक आयुक्त उद्योग की जांच के लिए संयुक्त आयुक्त उद्योग के पहुंचने की खबर पर शहर के अलावा, शेखूपुर, कछला आदि की तमाम महिलाएं पहुंच गयी। महिलाओं ने कार्यालय के बाहर सहायक आयुक्त उद्योग के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया।

महिलाओं का कहना था कि ओडीपी टूल किट प्रशिक्षण योजना में जो किट दी गयी थी, उसमें भी सहायक आयुक्त उद्योग ने खेल किया है। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद मानदेय और प्रमाणपत्र अभी तक नहीं दिये गए हैं। महिलाओं ने शपथ पत्र के माध्यम से जांच अधिकारी से शिकायत की।

अमित शर्मा, राजीव कुमार, नन्हें शर्मा, सुदेश पाल, देवेंद्र ने मिनी औद्योगिक आस्थान उझानी में प्लॉट आवंटन के नाम पर वसूली करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि सहायक आयुक्त उद्योग की मांग पूरी कर दी, लेकिन अब तक प्लॉट आवंटित नहीं हुये हैं, न ही पूरी की गयी डिमांड वापस की है। सहायक आयुक्त उद्योग धर्मेंद्र कुमार भास्कर ने सभी आरोप निराधार बताये हैं।

फर्जी यात्राओं की शिकायत : भाजपा नगरध्यक्ष सहसवान सौरभ माहेश्वरी ने शिकायत की। सहायक आयुक्त द्वारा सरकारी जीप से गलत तरीके से यात्रायें दर्शायी गयी हैं। लॉग बुक में यात्रायें निर्धारित दूरी से अधिक दिखायी गयी है। शिकायत की बारीकि से जांच की गयी तो पूरा मामला खुल सकता है।

सह प्रधान सहायक की पत्नी बोली पति को किया परेशान : कार्यालय के तत्कालीन सह प्रधान सहायक मोहम्मद फारूख खां की पत्नी रफत बेगम भी जांच अधिकारी के समक्ष अपना पक्ष रखने पहुंची। उन्होंने बताया कि उनके पति को सहायक आयुक्त उद्योग धर्मेंद्र कुमार भास्कर द्वारा दो वर्षो से मानसिक रूप से लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था। जिसके चलते पति ने दो बार आत्महत्या करने की कोशिश की थी। पति ने मजबूर होकर अपना तबादला बरेली करा लिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Investigation reached the Joint Commissioner women created uproar