DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सौभाग्य योजना में लाभाविंतों को सिर्फ प्रमाण पत्र देकर तैयार किया रिकॉर्ड

सौभाग्य योजना में लाभाविंतों को सिर्फ प्रमाण पत्र देकर तैयार किया रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के हर वर्ग के व्यक्ति तक बिजली का कनेक्शन पहुंचाने के सपने को विद्युत विभाग के अधिकारियों ने ही चूना दिया। बदायूं के अधीक्षण अभियंता के साथ ही बरेली के अधीक्षण अभियंता के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है। कार्रवाई होने के साथ ही विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

केंद्र सरकार की महात्वकांक्षी सौभाग्य योजना में लोगों को मिलने वाले कनेक्शन में विभाग द्वारा लोगों को पूरा लाभ नहीं दिया गया था। इस संबंध में हिन्दुस्तान अखबार ने पहले ही खबर प्रकाशित कर इस मुद्दे को उजागर किया गया था, पर ऊपरी अधिकारियों और राज नेताओं से सांठगांठ कर मामले को दबाए रखा गया। इस योजना के तहत मिलने वाले कनेक्शन के साथ पोल से घर तक के लिए केबिल, एलईडी बल्ब, स्विच, मीटर मिलता है। इस किट को विभाग डकार गया। कनेक्शन लेने आने वाले लोगों को सिर्फ प्रमाण पत्र देकर टरकाया दिया। सरकार द्वारा हर व्यक्ति को बिजली का कनेक्शन देने के लिए योजना शुरू की गई तो सभी लोगों को लगा कि अब घर में रोशनी होगी, पर विभागीय अधिकारियों की घोटाला करने की प्रवृति के चलते ऐसा होना संभव नहीं हुआ।

अभी तक प्रधानमंत्री की इस महात्वकांक्षी सौभाग्य योजना के तहत जिले भर में कुल 8,568 कनेक्शन बांटे जा चुके हैं। जो निर्धारित लक्ष्य से बहुत ही कम है। इन लाभार्थियों में से कुछ एक ही लाभार्थी होंगे, जिन्हें प्रमाण पत्र के साथ केबिल और बल्ब मिला होगा वरना अभी तक विभाग द्वारा सिर्फ प्रमाण पत्र देकर लोगों को टरका दिया गया। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने सोमवार को कार्रवाई करते हुए जिले के अधीक्षण अभियंता मधुप श्रीवास्तव को चार्जशीट देने का आदेश कर दिया है।

कार्रवाई जैसा कुछ भी नहीं है। जांच के लिए बोला गया है।, अब जांच होने के बाद ही कोई कार्रवाई होगी। अभी मुझे भी पत्र के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है।

- मधुप श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियंता

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In good fortune the record prepared by giving certificate to beneficiaries only