DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बदायूं  ›  लॉकडाउन के बीच बिना बैंडबाजा दुल्हन लेकर लौटे दूल्हे राजा

बदायूंलॉकडाउन के बीच बिना बैंडबाजा दुल्हन लेकर लौटे दूल्हे राजा

हिन्दुस्तान संवाद,बदायूंPublished By: Dinesh Rathour
Sun, 31 May 2020 03:28 PM
लॉकडाउन के बीच बिना बैंडबाजा दुल्हन लेकर लौटे दूल्हे राजा

लॉकडाउन में जनजीवन का ही नहीं शादियों का भी बिन बैंड बाजा बज गया है। शादियों में पहले तो रोक लगी रही और जब सरकार ने छूट दी तो शादियां बिन बैंड बाजा हुई हैं। जिले में जो गिने-चुनी शादियां हुई वहां सजधजकर आए दूल्हे राजा और बिन बैंड बाजा के दुल्हन को जीवन साथी बनाकर ले गए हैं। मगर वह लड़का, लड़कियों की शादियां छूट गई हैं जिनकी  गैर जिले से होनी थी। उनको प्रशासन ने अनुमति नहीं दी तो शादियां छूट गई हैं।

जिले में लॉकडाउन एक और दो व तीन में तो प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी को लेकर शादियों करने को छूट नहीं दी। लॉकडाउन-4.0 जिले में 19 मई से लागू हुआ।  19 मई से अब तक जिले में प्रशासनिक रिकॉर्ड के अनुसार केवल 50 शादियां हुई हैं। जिले भर से शादियों के लिए करीब 150 लोगों ने आवेदन किए थे। इनमें से 50 लोगों को एसडीएम ने अनुमति दी थी। इनकी शादियां हो गई हैं। इसके अलावा 80 लोगों की शादियों के आवेदन निरस्त कर दिए गए हैं। ये शादियां गैर जिले से होनी थी। इस वजह से उन्हें अनुमित नहीं दी गई है। कुछ आवेदन अनुमति के लिए दिए गए हैं।

घोड़ी-बग्गी का सपना टूटा

बारात इंसान के लिए एक बड़ा सपना है। बारात में दूल्हा इच्छा घोड़ा और बग्गी के साथ बैंडबाजा होता है। इस सपने को लॉकडाउन ने तोड़ डाला है। लॉकडाउन में जो भी शादियां हुई हैं वह बिना बैंडबाजे और घोड़ा-बग्गी के हुई हैं। इसकी वजह से इन दंपतियों की हसरतें अधूरी रह गईं।

लॉकडाउन में दहेज मुक्त शादी

शादियों में आजकल दहेज एक चलन बन गया है। शादियां होती हैं तो लोग दहेज पहले पूछते हैं। लॉकडाउन ने शादियों को दहेज मुक्त कर दिया है। इस लॉकडाउन के बीच जो शादियां हुई हैं, उनमें दहेज नहीं दिया गया। तो केवल महज ही मिला है। केवल नवदंपत्तियों को केवल एक-दूसरे का साथ मिला है।

लॉकडाउन-4.0 में सरकार से नियमों के पालन के साथ शादियों को छूट मिली थी, दोनों पक्षों के 20 लोगों के साथ कर सकते हैं। इसकी अनुमति एसडीएम के स्तर से दी गई हैं उन्होंने स्थानीय स्तर पर सत्यापन करने के बाद ही अनुमति दी हैं। लॉकडाउन के नियमों का पालन कराया है।
नरेंद्र बहादुर सिंह, एडीएम वित्त एवं राजस्व

 

संबंधित खबरें