DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांवों में जनसहयोग से गोवंश के लिए भूसा करें जमा : डीएम

गांवों में जनसहयोग से गोवंश के लिए भूसा करें जमा : डीएम

गांव-गांव छुट्टा घूमने वाले गोवंशों के लिए प्रशासन तन मन धन से लगा हुआ है। जिले में अब तक 700 गोशालाएं बन गई हैं। जिनमें सात हजार गोवंश रह रहे हैं।

गोवंश के लिए चारा, पानी एवं छाया की व्यवस्थाएं पूरे वर्ष की करने के लिए अब प्रधानों का सहयोग मांगा है। डीएम ने कहा कि ग्राम प्रधान गांवों में भूसा खरीद कर तथा भूसा दान करने वाले लोगों का भूसा लेकर गोवंश के लिए एकत्रित करें। ग्राम पंचायत में खाली पड़ी सरकारी भूमि पर पशुओं के लिए हरा चारा बुवाया जाए।मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में डीएम दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में गोशाला में रहने वाले गोवंश की व्यवस्थाओं के संबंध में ग्राम प्रधानों के साथ बैठक की गई।

उन्होंने ग्राम प्रधानों को निर्देश दिए कि गोशालाओं में रहने वाले पशुओं के लिए पूरे वर्ष के खाने पीने रहने की व्यवस्थाएं अभी से पूरी कर लें। उन्होंने कहा कि गोशालाओं में पशु रहने से अब किसानों की फसल बर्बाद नहीं होगी और सभी किसान अपने घरों में चैन की नींद सो सकेंगे। प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि सभी प्रधानों को सहयोग करना होगा।

यह कार्य प्रशासन का ही नहीं हम सबका भी है। अगर गोशाला बनाने एवं गोवंश पकड़ने तथा उनके भूसे की व्यवस्था कर लेंगे तो गांव की समस्याएं खत्म हो जाएंगी। लोग परेशान न होंगे। इस मौके पर नगर मजिस्ट्रेट केके अवस्थी, प्रधान संगठन के प्रांतीय महामंत्री सोहनपाल साहू अन्य अधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:For the village-village dynasty head in the field of grassroots cooperation DM