DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बदायूं › मंत्री-विधायकों के परिवारी लड़ेंगे ब्लाक प्रमुखी
बदायूं

मंत्री-विधायकों के परिवारी लड़ेंगे ब्लाक प्रमुखी

हिन्दुस्तान टीम,बदायूंPublished By: Newswrap
Thu, 08 Jul 2021 03:50 AM
मंत्री-विधायकों के परिवारी लड़ेंगे ब्लाक प्रमुखी

बदायूं। संवाददाता

ब्लाक प्रमुख पद के चुनाव को भाजपा ने सूची जारी कर दी है। जिसमें अपनो को टिकट बांटे गये। जसके चलते कार्यकर्ता एवं अन्य पदाधिकारियों में विरोध नजर आ रहा है। इतना ही नहीं भाजपा की सूची में तमाम दावेदार बाहर हो गये हैं। सदस्यों की बस भरकर ले जाने वाले एक भाजपा नेता सांसद के प्रतिनिधि का टिकट से बाहर हो गये। ब्लाक प्रमुख चुनाव में सपा ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले।

बुधवार को जिलाध्यक्ष अशोक भारतीय ने ब्लाक प्रमुख प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर दी है। सूची घोषित होते ही भाजपा के तमाम पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं में अंदरखाने विरोध हुआ है। बतादें कि भाजपा ने जिले के 15 ब्लाकों पर जिनको दावेदार बनाया है वह अधिकतर नेताओं के परिवार सदस्य हैं।

इसमें दातागंज विधायक के बेटे आर्येंद्र सिंह को टिकट दिया गया। इधर शेखूपुर विधायक के भाई यादवेंद्र शाक्य प्रत्याशी बनाये गये। उनके टिकट के आगे पार्टी ने भाजपा नेता तथा सांसद प्रतिनिधि तीर्थेंद्र पटेल का टिकट काट दिया है। इसके अलावा बिसौली विधायक ने आसफपुर से अपने पीए ओमकृष्ण को टिकट दिया है। दहगवां में राज्यमंत्री ने अपने भतीजे की पत्नी को टिकट दिलाया है। समरेर में पूर्व जिंप सदस्य, पूर्व ब्लाक प्रमुख धीरज सक्सेना की पत्नी को टिकट दिया है। इसके अलावा अंबियापुर में प्रांतीय नेता डीपी भारती की पत्नी को टिकट दिया है। इसके अलावा अन्य ब्लाकों में भाजपा नेताओं को टिकट दिया गया है।

दिग्गजों को भाजपा ने किया साइड

वजीरगंज। ब्लॉक प्रमुखी के लिये सत्तारूढ़ पार्टी से टिकट पाने को तमाम दावेदार नेताओं के परिक्रमा लगा रहे थे। कल तक कभी किसी का तो कभी अन्य का नाम सियासी गलियारों में उछला जा रहा था। मगर भाजपा ने नीलांजना चौहान के नाम की घोषणा कर बड़े-बड़े महारथियों को साइड कर दिया है। जबकि पिछले काफी दिनों से आधा दर्जन लोग ब्लाक प्रमुख पद के दावेदार बन रहे थे। इसमें राज्यमंत्री के सबसे करीबी राहुल वार्ष्णेय अपनी पत्नी सांसद के करीबी राकेश वार्ष्णेय अपनी पत्नी ममता देवी, भाजपा नेता अरविंद वार्ष्णेय की निवर्तमान प्रमुख सुमिता वार्ष्णेय मैदान में थीं। इसके अलावा कपड़ा व्यवसायी पोशाकी लाल वार्ष्णेय अपनी पत्नी गीता देवी के अलावा देहात क्षेत्र से कारगिल शाहिद हरिओम सिंह की पत्नी गुड्डो देवी तथा अनुपम सिंह अपनी पत्नी नीलांजना चौहान टिकट को चक्कर लगा रहे थे। बुधवार को भाजपा ने हिमाचल में तैनात अनुपम सिंह की पत्नी नीलांजना चौहान के नाम की घोषणा कर सियासत के कई दिग्गजों पछाड़ दिया है।

संबंधित खबरें