DA Image
15 अगस्त, 2020|5:06|IST

अगली स्टोरी

कैलिफोर्निया में रहकर कोरोना की दवा तैयार कर रहे डॉ.तारिक

गांव की धरती पर जन्मे तारिक खान आज अमेरिका में असंभव को संभव कार्य करने में लगे हैं। कोरोना जैसी बीमारी की दवा (वैक्सीन) तैयार करने के प्रयास में अमेरिका की एक बड़ी कंपनी के साथ कर रहे हैं। कंपनी की टीम के साथ वह कोरोना की वैक्सीन तैयार करने में लगे हैं। देश सेवा के लिए उन्होंने संकल्प लिया है कि वह जब तक कोरोना की दवा तैयार नहीं कर लेंगे तब तक देश वापस नहीं आएंगे।

बिसौली इलाके के संग्रामपुर गांव निवासी जहूर अहमद का बेटा डॉ. तारिक खान अमेरिका के कैलिफोर्निया स्टेट में रहकर कोरोना दवा बनाने में लगे हैं। जिससे उसके परिजनों को अपने बेटे पर नाज है। डॉक्टर तारिक खान ने अमेरिका में पढाई करने के बाद उन्होंने इमोनोलॉजी में पीएचडी की पढाई पूरी कर ली और कैलिफोर्निया में अमेरिकन की बड़ी दवा कंपनी में नौकरी लग गई।

डॉ. तारीक खान के मुताबिक अमेरिका की यह सबसे बढ़ी दवा कंपनियों में एक मानी जाती है। इस कंपनी में उन दवाओं को तैयार किया जाता है जो बीमारियां लाइलाज मानी जाती हैं। इन दिनों इस कंपनी में कोरोना बीमारी की दवा के लिए डाक्टरों की टीम में साथ है। तारिक खान ने फोन पर हुई बातचीत में बताया कि अभी तक कोरोना बीमारी की दवा नहीं बन सकी है लेकिन पूरी टीम दवा बनाने के लिए जुटी हुई है।

यहां से पूरी की पीएचसी
कोतवाली क्षेत्र के गांव संग्रामपुर-लक्ष्मीपुर गांव निवासी जहूर अहमद का बेटा तारिक खान डॉक्टर है। डॉक्टर तारिक खान वर्ष 2012 में नेशनल इंस्टीट्यूट इमोनोलॉजी नई दिल्ली से पीएचडी की पढ़ाई कर चुके हैं। पीएचडी करने के बाद वह अमेरिका में पढाई करने चले गए।

अमेरिका में रहकर करेंगे देश सेवा
तारिक खान के पिता ने फोन पर बात की। पिता ने पूछा कब देश में आओगे, इस पर तारिक ने जवाब दिया कि वह अमेरिका में ही रहकर देश के लोगों की सेवा करेंगे। बीमारी खत्म नहीं होने तक अपने वतन नहीं लौटेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:dr tariq of bandaun preparing corona medicine in California