ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश बदायूंसीएमओ के आदेश पर डॉक्टरों ने अस्पताल की जांच की

सीएमओ के आदेश पर डॉक्टरों ने अस्पताल की जांच की

विद्युत निगम के एसएसओ के साथ मारपीट करने वाला महिला का अस्पताल बिना रजिस्ट्रेशन चल रहा था। इतना हीं नहीं अस्पताल संचालिका खुद डॉक्टर भी नहीं है वह...

सीएमओ के आदेश पर डॉक्टरों ने अस्पताल की जांच की
हिन्दुस्तान टीम,बदायूंWed, 29 May 2024 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

विद्युत निगम के एसएसओ के साथ मारपीट करने वाला महिला का अस्पताल बिना रजिस्ट्रेशन चल रहा था। इतना हीं नहीं अस्पताल संचालिका खुद डॉक्टर भी नहीं है वह केवल एएनएम है। नाम के आगे बीएमएस डाक्टर लिखकर लोगों के साथ धोखा कर रहीं थीं। अब सीएमओ के आदेश पर जांच शुरू हो गई है।
सीएमओ डा. अब्दुल सलाम के आदेश के बाद मंगलवार को वजीरगंज के विवादित प्राइवेट अस्पताल पर जांच शुरू हो गई है। वजीरगंज स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राजकुमार और सैदपुर स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जुनैद मेहंदी ने अवैध नर्सिंग होम की जांच की। दोनों प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों सभी बिंदूओं पर जांच पड़ताल की है। अधिकारियों ने उससे अस्पताल चलाने का रजिस्ट्रेशन मांगा जो वह नहीं दिखा सकी। वह अपनी डिग्री भी नहीं दिखा सकी। चिकित्सा अधिक्षक डॉ. राजकुमार के मुताबिक महिला बिना रजिस्ट्रेशन के ही अवैध नर्सिंग होम के साथ मेडीकल भी अस्पताल में चला रही थी। संचालिका केवल एएनएम का कोर्स किए हुए है। संचालिका अपने नाम के आगे बीएमएस लिखती है। दोनों चिकित्सा अधिकारियों ने रिपोर्ट बनाकर सीएमओ को भेजी है। सीएमओ के आदेश पर अब अग्रिम कार्रवाई की जायेगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।