DA Image
20 अप्रैल, 2021|9:46|IST

अगली स्टोरी

बेटियां डरें नहीं, पुलिस उनकी सुरक्षा के लिये तैयार

बेटियां डरें नहीं, पुलिस उनकी सुरक्षा के लिये तैयार

1 / 3जिला बाल सरंक्षण इकाई, महिला शक्ति केंद्र व चाइल्डलाइन बदायूं के तत्वावधान में केदारनाथ महिला इंटर कालेज में राष्ट्रीय बालिका दिवस आयोजित किया...

बेटियां डरें नहीं, पुलिस उनकी सुरक्षा के लिये तैयार

2 / 3जिला बाल सरंक्षण इकाई, महिला शक्ति केंद्र व चाइल्डलाइन बदायूं के तत्वावधान में केदारनाथ महिला इंटर कालेज में राष्ट्रीय बालिका दिवस आयोजित किया...

बेटियां डरें नहीं, पुलिस उनकी सुरक्षा के लिये तैयार

3 / 3जिला बाल सरंक्षण इकाई, महिला शक्ति केंद्र व चाइल्डलाइन बदायूं के तत्वावधान में केदारनाथ महिला इंटर कालेज में राष्ट्रीय बालिका दिवस आयोजित किया...

PreviousNext

जिला बाल सरंक्षण इकाई, महिला शक्ति केंद्र व चाइल्डलाइन बदायूं के तत्वावधान में केदारनाथ महिला इंटर कालेज में राष्ट्रीय बालिका दिवस आयोजित किया गया। जिसमें छात्राओं ने विभिन्न कार्यक्रम पेश किये। छात्राओं को बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ की शपथ दिलाई गई।

महिला एसओ रेनू सिंह ने छात्राओं ने कहा कि बेटियां डरें नहीं, पुलिस उनकी सुरक्षा के लिये हमेशा तत्पर है। उन्होंने कहा कि बेटियां आज किसी से कम नहीं है। वह हर क्षेत्र में आगे बढ़कर कार्य कर रही हैं। बेटियां मदद के लिये थाने में संपर्क कर सकती हैं। घर बैठे 1090 पर भी शिकायत दर्ज कराने की सुविधा है। प्रत्येक थाने में महिला डेस्क खोली गईं हैं। यहां भी शिकायत दर्ज करायी जा सकती है। किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य सविता मालपानी एवं सदस्य बाल कल्याण समिति मीना सिंह ने छात्राओं को उनके अधिकार बताये। चाइल्डलाइन 1098 के बारे में राहीबा खान ने बताया। प्रवक्ता प्रवीण रानी, लाल कुंवरवती, संगीता भारती, रवि कुमार, अमलेश गुप्ता, छवि वैश्य, रुचि पटेल, दीपक कुमार, रचना सिंह मौजूद थे।

बेटियों को बताये अधिकार

म्याऊं। चाइल्डलाइन सब सेंटर म्याऊं द्वारा शिवकुमार शर्मा ने बालिकाओं को उनके अधिकारों से अवगत कराया। टीम सदस्य अनगपाल ने बालिकाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाये। कहा कि बेटियों का आज किसी से कम समझने की जरुरत नहीं है।

बेटियां घर की ही नहीं राष्ट्र की शान

बिल्सी। गांव गुधनी में आर्य समाज मंदिर पर रविवार को विश्व बालिका दिवस धूमधाम से मनाया गया। आर्य संस्कारशाला की बेटियों के द्वारा पहले यहां यज्ञ किया गया। बेटियों ने यहां विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किये। ईशा आर्य ने भजन गाया। प्रज्ञा आर्य ने कहा बेटियां घर की ही चांद नहीं राष्ट्र की शान है। आचार्य संजीव रूप ने सभी बेटियों को सम्मानित किया। संतोष कुमारी, जैनसी, अंजली रानी, स्वाति, तानिया, मोना, कोकसी, ओमप्रकाश सिंह, सत्यम आर्य मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Daughters should not be afraid police is ready for their safety