Current child-leaved children spread in the Worm of SNCU Ward - एसएनसीयू वार्ड के वार्मर में फैला करंट, बाल-बाल बचे बच्चे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएनसीयू वार्ड के वार्मर में फैला करंट, बाल-बाल बचे बच्चे

एसएनसीयू वार्ड के वार्मर में फैला करंट,  बाल-बाल बचे बच्चे

सघन नवजात शिशु चिकित्सा उपचार इकाई (एसएनसीयू) वार्ड में उस समय हड़ंकप मच गया जब वार्ड में रखे रेडियएंट वार्मर में करंट फैल गया। जिससे वहां भगदड़ मच गई। करंट फैलने से वार्ड में भर्ती 17 बच्चे बाल-बाल बच गए। शॉट हुए वार्मर की आनन-फानन में मरम्मत कराई गई है।

मंगलवार को जिला महिला अस्पताल में स्थित एसएनसीयू वार्ड में ‌रेडियएंट वार्मर (बेड) को लाइट से संचालित करते समय करंट फैल गया। गनीमत रही कि कर्मचारियों ने रेडियएंट वार्मर को संचालित करने और नवजात को लिटाने से पहले छूकर देख लिया। वार्मर को छूटे ही करंट के झटके लगे और आननफानन में वार्मर के स्विच को बंद किया और वार्ड से अलग निकाला गया। यह जानकारी जब सीएमएस व अन्य अधिकारियों को हुई तो तत्काल इलेक्ट्रीशियन को बुलाया गया और उझानी से आए दोनों रेडियएंट वार्मर की मरम्मत सही कराया गया है।

रेडियएंट वार्मर में करंट शॉट होने पर आना बताया गया। बता दें कि एसएनसीयू में अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों तक की लापरवाही चल रही है। जिसकी वजह से वार्मर को चेक पहले नहीं किया गया और संचालित कर दिया गया। यह वार्मर भी उझानी से तब मंगाए गए जब कम बेड़ की समस्या था और एक महीने में आठ बच्चों की मौत का मामला प्रकाश में आया था। सीएचसी से दो वार्मर आए थे, उनमें करंट आया था। करंट आने के दौरान वार्मर पर बच्चा नहीं था। इलेक्ट्रीशियन को बुलाकर ठीक करा दिया है, वार्मर का करंट किसी को नहीं लगा है। डॉ. रेखा रानी, सीएमएस जिला महिला अस्पताल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Current child-leaved children spread in the Worm of SNCU Ward