DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बदायूं  ›  इधर मुकदमा दर्ज, उधर फरार हो गये दरोगा-सिपाही

बदायूंइधर मुकदमा दर्ज, उधर फरार हो गये दरोगा-सिपाही

हिन्दुस्तान टीम,बदायूंPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:31 AM
इधर मुकदमा दर्ज, उधर फरार हो गये दरोगा-सिपाही

बदायूं। संवाददाता

अफीम तस्करों को पकड़ने के बाद उन्हें घूस लेकर छोड़ने के आरोपी दरोगा आकाश कुमार व दोनों सिपाही मुकदमा दर्ज होने के साथ ही फरार हो गये हैं। चूंकि उन्हें पुलिस की बारीकियां और धरपकड़ के तरीकों की पूरी जानकारी है, ऐसे में इनके मोबाइल भी स्विच ऑफ आ रहे हैं। यही वजह है कि घटनाक्रम में चौथा सिपाही कौन शामिल था, उसका चेहरा बेनकाब नहीं हो पा रहा है। इधर, पुलिस भी इनकी तलाश कर रही है। इनके घरों से लेकर परिचितों के ठिकानों तक पर दबिश का दौर जारी है।

तस्करों को पकड़कर छोड़ने की कारगुजारी इस बार पुलिस कर्मियों पर महंगी पड़ गई है। एक तरह से मुखबिरों के साथ गिरोह बनाकर उनका यह कारोबार बेहतर चल रहा था। फैजगंज बेहटा से लेकर बदायूं की शेखूपुर चौकी तक कई मुखबिर सक्रिय करके पकड़ने और छोड़ने का खेल लगातार जारी था। कुल मिलाकर खाकीधारी गिरोह ने उत्पात मचाकर रख दिया था लेकिन इनके पाप का घड़ा फूटा तो तीनों खुद को बचाने के लिए भाग खड़े हुए।

अदालत की शरण की तैयारी

खाकीधारी गिरोह कोर्ट की शरण में जाने की तैयारी में है,जिससे इस मुकदमे में कुछ राहत मिल सके। पुलिस ने अपना पूरा नेटवर्क फैला रखा है। वहीं चौथा सिपाही कौन है, यह भी अधिकारी काफी हद तक समझ गये हैं लेकिन दरोगा-सिपाहियों के बयान पर ही उस पर हाथ डालने की तैयारी है।

अफीम के साथ असलहे भी ले गया मुखबिर

वजीरगंज इलाके में रहने वाला मुख्य मुखबिर आधा किलो अफीम समेत तस्करों से बरामद हुए बेहद उम्दा असलहे भी ले गया है। अफीम को अन्य तस्कर के हाथ बेचना था और असलहों की सप्लाई कहीं और करके वहां से भी मोटे दाम कमाने की तैयारी में था।

संबंधित खबरें