DA Image
22 फरवरी, 2020|9:51|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शादी के बाद आशीर्वाद लेने गांव देवता मंदिर पहुंचा दलित दंपति तो ग्रामीणों ने डाल दिया ताला

after marriage dalit couple reached village deity temple villagers put lock

शादी के गीतों के साथ झूमते हुए एकपरिवार के दूल्हा-दुल्हन को लेकर गांव के ग्राम देवता मंदिर पर पहुंचे, लेकिन अनुसूचित जाति के होने की वजह से गांव के लोगों ने मंदिर में पूजा अर्चना से पहले ताला डाल दिया। काफी मान मनोबल के बाद भी मंदिर का ताला नहीं खोला गया, तब सूचना पर पहुंची पुलिस ने ताला खुलवाया। सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के गांव भगवती पुर निवासी ओमप्रकाश के बेटे सोनू की शादी मूसाझाग के गांव मौसम पुर निवासी अनामिका के साथ हुई थी। शादी की रस्मों के बाद दुल्हन जब गांव पहुंची, तब घर की महिलाएं ढोलक की थाप के बीच नवदंपति को ग्राम देवता के मंदिर पर पूजा अर्चना कराने को ले गए।

मंदिर का नजारा देखकर सभी नाते रिश्तेदार भी दंग रह गए। मंदिर पर ताला लटका हुआ था। पीड़ित परिवार के मुताबिक अनुसूचित जाति होने का आरोप लगाते हुए गांव के लोगों ने मंदिर पर पूजा अर्चना करने से रोक दिया। इसकी वजह से ताला भी डाल दिया गया। परिवार काफी देर तक प्रयास करता रहा लेकिन आरोपियों ने मंदिर की चाबी नहीं दी। इसके बाद मामले की जानकारी 112 पर दी गई। तब पुलिस मौके पर पहुंच गई पुलिस ने कार्रवाई की धमकी दी। तब मंदिर की चाबी दी गई और पीड़ित पक्ष पूजा अर्चना कर सका। फिलहाल पुलिस के मुताबिक इस मामले में तहरीर न मिलने की वजह से कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:After marriage Dalit couple reached village deity temple villagers put lock