DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  आजमगढ़  ›  डीएपी खाद की बोरी पर मोटे अक्षरों में लिखें रेट

आजमगढ़डीएपी खाद की बोरी पर मोटे अक्षरों में लिखें रेट

हिन्दुस्तान टीम,आजमगढ़Published By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:11 AM
डीएपी खाद की बोरी पर मोटे अक्षरों में लिखें रेट

आजमगढ़। संवाददाता

कोरोना काल में किसानों ने अच्छी खेती करते हुए पैदावार बढ़ाया है। और अधिक पैदावार बढ़ाने के लिए किसानों की भरपूर मदद की जाए। किसी भी दशा में खाद, बीज की कमी न होने पाए। उक्त बातें सोमवार को कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने व्यक्त किया। वे राज्य स्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी को आनलाइन संबोधित कर रहे थे।

कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों ने कोविड-19 महामारी के संक्रमण काल में भी गेहुॅ एवं धान का रिकार्ड उत्पादन किया है। दाल एवं तिलहन में भी निरन्तर उत्पादकता वृद्घि हो रही है। किसानों ने खाद्यान्न उत्पादन मे प्रदेश को मजबूत किया। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत किसानों के खाते में धनराशि उपलब्ध करायी है। उन्होने कहा कि किसान भाई तकनीकी एवं शंकर बीजों के द्वारा उत्पादन को बढ़ायें। प्रदेश सरकार ने पर्याप्त बीज एवं यूरिया, डीएपी की व्यवस्था की है। डीएपी पुराने रेट पर ही उपलब्ध है। डीएपी की बोरियों पर मोटे अक्षरों में रेट पिं्रट करायें, ताकि किसी भी किसान को परेशानी न हो।

15 दिन में कीटनाशक एवं दवाएं उपलब्ध कराएं

कृषि मंत्री ने कहा कि 15 दिन के अन्दर कीटनाशक एवं अन्य दवाओं को उपलब्ध करा दिया जाए। कृषि यंत्रों का अनुदान दे दिया जाए तथा कृषि यंत्रों की व्यवस्था को तत्काल ठीक कर लें। मोटे अनाजों के बीज बुन्देलखण्ड के जनपद एवं जहॉ से डिमाण्ड आयें, उसे तत्काल उपलब्ध करा दिये जायें। खेत की मेड़ों पर दलहन एवं तिलहन की खेती को प्रोत्साहित किया जाए। जिला स्तर पर फसलों पर जो रणनीती बनायी जाये, उसमें तिलहन एवं दलहन का विशेष प्लान बनायें।

नदी के किनारे जैविक खेती को मिले बढ़ावा

कृषि मंत्री ने कहा कि नदियों के किनारे जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाय। राज्य स्तर पर दिये गये सुझावों को समेकित कर समस्या का समाधान किया जायेगा। राज्य स्तरीय खरीफ उत्पादकता गोष्ठी को कृषि राज्य मंत्री, कृषि उत्पादन आयुक्त, अपर मुख्य सचिव कृषि एवं अन्य संबंधित विभागों के प्रमुख सचिव एवं निदेशक ने भी सम्बोधित किया। इस दौरान समस्याओं से भी अवगत कराया गया।

पर्याप्त मात्रा में मौजूद है खाद एवं बीज

आनलाइन बैठक में मौजूद डीएम राजेश कुमार ने अवगत कराया कि जनपद में बीजों एवं उर्वरकों की पर्याप्त उपलब्धता है। उन्होने कहा कि कृषि विभाग में अधिकारियों की कमी है। जनपद आजमगढ़ का क्षेत्र बड़ा होने के दृष्टिगत यहॉ पर अधिकारी की पोस्टिंग की जाए, जिससे विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन में परेशानी न हो। बैठक में कृषि राज्य मंत्री, कृषि उत्पादन आयुक्त, अपर मुख्य सचिव कृषि, प्रमुख सचिव मत्स्य, पशुपालन, प्रमुख सचिव उद्यान तथा सिंचाई, विद्युत के साथ ही सभी मण्डलों के मण्डलायुक्त एवं डीएम जुड़े रहे।

संबंधित खबरें