DA Image
3 दिसंबर, 2020|1:32|IST

अगली स्टोरी

नागरिकता कानून के विरोध में महिलाओं ने दिया धरना

नागरिकता कानून के विरोध में महिलाओं ने दिया धरना

नागरिकता कानून के विरोध में मंगलवार को बिलरियागंज कस्बा के मौ.जौहर अली पार्क में महिलाओं ने धरना-प्रदर्शन शुरू किया। इस दौरान महिलाएं हाथ में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर विरोध में नारे लगा रही थी। इस बीच पुलिस ने भीड़ में शामिल एक युवक को उठा लिया तो महिलाएं आक्रोशित हो गयी। पुलिस प्रशासन ने समझाने का प्रयास किया लेकिन महिलाएं धरने पर अड़ी रही। शाहीन बाग की तर्ज पर धरनास्थल पर चाय-पानी की भी व्यवस्था रही और पुलिस भी मुस्तैद रही।

बिलरियागंज कस्बा में नागरिकता कानून के विरोध में सुबह साढ़े ग्यारह बजे अचानक काफी संख्या में महिलाएं मौ.जौहर अली पार्क में एकत्रित होने लगी। महिलाओं के हाथ में स्लोगन लिखी तख्तियां थी। जिस पर ‘सीएए, एनआरसी व एनपीआर वापस लो, ‘दादा लड़े हैं गोरों से, हम लड़ेंगे चोरों से, ‘संविधान बचाओ-देश बचाओ, ‘है हक हमारा आजादी, हम लेकर रहेंगे आजादी आदि नारे लगा रही थीं। पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग सकी और बारह बजे तक धरनास्थल पर महिलाओं का मजमा लग गया। भीड़ में ज्यादातर महिलाओं के साथ बच्चियां शामिल रही। सूचना मिलने पर महिला फोर्स के साथ महराजगंज, रौनापार, जीयनपुर, तहबरपुर आदि थानों की पुलिस के साथ एसपी ट्रैफिक, एडीएम प्रशासन, एसडीएम बूढ़नपुर पहुंच गये। प्रशासन के साथ एसओ बिलरियागंज मनोज कुमार सिंह ने महिलाओं को समझा-बुझाकर धरना समाप्त कराने का प्रयास किया। जबकि महिलाएं कुछ भी सुनने को तैयार नहीं रही। इसी बीच पुलिस ने महिलाओं की भीड़ में शामिल एक युवक को उठा लिया तो महिलाएं उत्तेजित हो गयी। बहरहाल पुलिस ने हस्तक्षेप पर भीड़ थोड़ा शांत हुई। महिलाओं के सामने पुलिस प्रशासन बौना साबित हो रहा था। धरनास्थल के ईद-गिर्द एकत्र भीड़ को पुलिस जबरन खदेड़कर भगाती रही। उधर एसओ पुलिस बल के साथ सड़क पर चहलकदमी करते रहे। हालांकि रोड पर आवागमन चालू रहा लेकिन धरनास्थल के समीप दुकानें बंद हो गयी। धरनास्थल पर चाय-पानी की भी व्यवस्था रही। समाचार लिखे जाने तक जौहर अली पार्क में धरना चल रहा था।

धरनास्थल पर पहुंचकर नहीं रूके एसपी

बिलरियागंज। कस्बा के मौ.जौहर अली पार्क में महिलाओं के धरना-प्रदर्शन के चलते पुलिस को कासिमगंज के पास बड़े वाहनों का रूट डायवर्जन करना पड़ा। साढ़े चार बजे शाम को एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह कहीं से आते समय धरनास्थल से होते हुए गुजरे लेकिन वहां पर नहीं रूके। पांच बजे के करीब जामीअतुल फलाह मदरसा के नाजिम मौ.ताहिर मदनी, पूर्व चैयरमैन मो.आरिफ खान, डॉ अबुशहमा पहुंचे। उन लोगों ने धरनारत महिलाओं को काफी समझाने का प्रयास किया लेकिन भीड़ पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। देर रात तक धरना अनवरत जारी रहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Women protest against citizenship law