DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फाल्ट के चलते 15 घंटे से बिजली बाधित

विकास खण्ड क्षेत्र में इन दिनों बिजली के जर्जर तार अक्सर टूटकर गिर रहे हैं। कभी हवा का झोंका चले या फिर बारिश हो तो इन तारों के लिए भारी पड़ जाता है। इसके अलावा फाल्ट होना तो अलग बीमारी है। बिलरियागंज क्षेत्र में रविवार की रात से बिजली आपूर्ति बाधित है, 15 घंटे बीतने के बावजूद फाल्ट नहीं खोजा जा सका। इसका खामियाजा ग्रामीणों व व्यापारियों को भुगतना पड़ रहा है। 

विद्युत उपकेंद्र बिलरियागंज से बिजली आपूर्ति के लिहाज से पूर्वी, पश्चिमी, उत्तरी व दक्षिणी चार क्षेत्रों में विभाजित किया गया है। इन क्षेत्रों में पांच दर्जन से अधिक गांव हैं। इन गांवों की जनता हमेशा बिजली का रोना रोती रहती है। हर जगह से जर्जर तार, कमजोर बिजली पोल व फाल्ट की शिकायत मिलती रहती है। जबकि विद्युत उपकेंद्र के कर्मचारी शिकायत सुन अनसुना कर देते हैं। वहीं विद्युत उपकेंद्र पर काफी समय से कोई जेई नहीं रहते हैं। इससे एसएसओ व लाइनमैनों की मर्जी से विद्युत उपकेंद्र संचालित होता है।

ग्रामीणों की मानें तो बिजली के बकायेदारों की लाइन जब काटनी होती है तभी जेई का दर्शन हो पाता है। इसके चलते बाधित आपूर्ति जल्दी ठीक नहीं हो पाती है। इससे जनता को बार-बार उपकेंद्र का चक्कर काटना पड़ता है। अभी हाल ही में गद्दोपुर गांव के पास पांच खंभों का तार बिना आंधी-पानी के स्वत: ही टूटकर गिर गया। इससे बड़ा हादसा होते-होते टल गया। रविवार की रात से फिर बिजली आपूर्ति गड़बड़ चल रही है। 15 घंटे से बिजली न आने पर जब उपकेन्द्र के लाइनमैनों से पूछा गया तो जवाब मिला कि कहीं फाल्ट है, खोजा जा रहा है। इस तरह की आये दिन हो रही गड़बड़ी से जनता त्रस्त है। लोगों ने कई बार जर्जर तारों को बदलवाने की मांग किये लेकिन कोई कार्रवाई न होने से लोगों में रोष है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Power disrupted due to 15 hours