DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश आजमगढ़चेयरमैन शिव प्रसाद के निधन से शोक में डूबे लोग

चेयरमैन शिव प्रसाद के निधन से शोक में डूबे लोग

हिन्दुस्तान टीम,आजमगढ़Newswrap
Wed, 07 Jul 2021 03:22 AM
चेयरमैन शिव प्रसाद के निधन से शोक में डूबे लोग

फूलपुर। हिन्दुस्तान संवाद

आदर्श नगर पंचायत फूलपुर नगर पंचायत चेयरमैन शिवप्रसाद जायसवाल का सोमवार को तबियत खराब होने के कारण लखनऊ में एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। उनके निधन की खबर जैसे ही कस्बे में पहुंची की पूरा नगर में शोक की लहर दौड़ गई। शोक में डूबे परिवार के लोगों को ढांढस बंधाने के लिए सैकड़ों नगरवासी समेत विभिन्न राजनीतिक दलों के जनप्रतिनिधि उनके घर पहुंच कर शोक संवेदना व्यक्त गए। उनका अंतिम संस्कार दुर्बासा धाम पर मंगलवार को किया गया।

फूलपुर नगर पंचायत 76 वर्षीय चेयरमैन शिवप्रसाद जायसवाल की तबियत करीब एक सप्ताह से खराब चल रही थी। इनका इलाज लखनऊ के एक निजी अस्पताल में चल रहा था। सोमवार की देर रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अचानक तबियत ज़्यादा बिगड़ गयी। जिसके कारण उनकी मौत हो गई। मौत की खबर से जैसे ही नगर में पहंुची,पूरा कस्बा शोक में डूब गया । मंगलवार की सुबह हर कोई चेयरमैन के दरवाजे की ओर पहुंचने के लिए आतुर दिखा। राजनीतिक दलों के तरफ से पूर्व विधायक श्यामबहादुर सिंह यादव, भारतीय मजदूर संघ के संगठन मंत्री अनुपम , ईओ माहुल दिनेश चंद्र आर्य, ईओ फूलपुर डा. संपूर्णानंद तिवारी, एसडीएम बागीश कुमार शुक्ला, फूलपुर एसडीएम रावेंद्र कुमार सिंह, निजामाबाद चेयरमैन प्रेमा यादव, माहुल चेयरमैन बदरे आलम ,सरायमीर चेयरमैन राम प्रकाश यादव आदि लोग उनके आवास पर पहुंच कर शोक संवेदना व्यक्त किए। वही चेयरमैन के निधन व्यापार मंडल की तरफ से कस्बे की पूरी दुकानें बंद रही। दोपहर में दुर्बासा धाम पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। अपने पीछे प्रतीक जायसवाल, अंशुमान जायसवाल सहित पूरा भरा परिवार छोड़कर चले गए।

शिवप्रसाद आपात काल में 19 महीने रहे जेल में

फूलपुर। चेयरमैन शिवप्रसाद जायसवाल का जन्म सन 1946 में एक सामान्य परिवार में हुआ था। इनकी प्रारम्भिक शिक्षा क्षेत्र के ही विद्यालयों में हुआ था। बचपन से ही वह राजनीतिक विचारधारा के व्यक्ति थे। वह आज़मगढ़ के शिब्ली कालेज के पहले हिन्दू छात्र संघ अध्यक्ष चुने गए। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा सन 1975 में लगाए गए आपातकाल के दौरान करीब 19 महीने तक आज़मगढ़ व नैनी जेल में रहे। उस समय इनके साथ कलराज मिश्र, पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यपाल रामनरेश यादव, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राजनारायण सिंह आदि वरिष्ठ नेता रहे। शैक्षणिक योग्यता व जोशीले अंदाज के चलते 2007 से लगातार तीन बार से फूलपुर नगर पंचायत के चेयरमैन पद के लिए चुने गए।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें