Thursday, January 20, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश आजमगढ़आजमगढ़ में बकरी चराने गए किशोर की गला रेतकर हत्या

आजमगढ़ में बकरी चराने गए किशोर की गला रेतकर हत्या

हिन्दुस्तान टीम,आजमगढ़Newswrap
Sun, 23 May 2021 11:11 PM
आजमगढ़ में बकरी चराने गए किशोर की गला रेतकर हत्या

पवई (आजमगढ़) हिन्दुस्तान संवाद

थाना क्षेत्र के चकिया सुलेमापुर गांव में रविवार की सुबह बकरी चराने गए किशोर की धारदार हथियार से गर्दन रेंतकर हत्या कर दी गई। किशोर की लाश गांव में मझुई नदी के किनारे स्थित शवदाह गृह में पड़ी थी। किशोर के काफी देर बाद भी घर न लौटने पर पिता और भाई खोजते हुए पहुंचे तो घटना की जानकारी हुई। सूचना मिलने पर डाग स्क्वाड की टीम ने घटना स्थल पर सुराग तलाश के प्रयास किया। पुलिस गुत्थी सुलझाने के प्रयास में जुट गई है। अभी कोई केस नहीं दर्ज है। सत्यम के पिता विनोद ने अभी तक किसी से दुश्मनी होने की बात भी नहीं बताई।

मृत किशोर सत्यम (14) पुत्र विनोद पवई थाना क्षेत्र के चकिया सुलेमापुर गांव का निवासी था। रविवार की सुबह करीब नौ बजे वह भोजन करके बकरी चराने निकला था। उसके साथ उसके भाई शिवम और सौरभ भी घर से निकले। घर से करीब दो सौ मीटर की दूरी पर स्थित मझुई नदी के किनारे सत्यम बकरी चराने लगा, जबकि उसके दोनों भाई शिवम और सौरभ नदी से मछली पकड़ने चले गए। दोनों भाई मछली पकड़कर घर पहुंचे। इसके बाद मछली खाने के लिए सभी को बुलाया गया। इस दौरान सत्यम का पता नहीं चला तो दोनों भाई पुन: नदी के किनारे गए और सत्यम का पता न चलने पर बकरियों को लेकर घर चले गए। सत्यम का कोई पता न चलने पर उसके पिता विनोद सहित अन्य लोग पुन: खोजने निकले। घर से करीब दो सौ मीटर दूर मझुई नदी के किनारे बने शवदाह गृह में सत्यम की लाश खून से लतपथ पड़ी थी। उसका गर्दन पर चोट के निशान थे। देखने से लग रहा था कि गर्दन रेता हुआ है। सत्यम की मौत के बाद घर वाले दहाड़े मारकर रोने लगे। घटना की जानकारी होने पर भीड़ जुट गई। सूचना मिलने पर सीओ फूलपुर और एसओ पवई मौके पर पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल में जुट गए।

कोट

किन परिस्थिति में और किस हथियार से सत्यम की हत्या की गई है। इसका पता लगाया जा रहा। घर वालों ने किसी से कोई रंजिश नहीं बताया गया है, ना ही किसी पर शक जाहिर किया है। पुलिस अपने स्तर से गुत्थी सुलझाने के प्रयास में जुटी है। अभी केस नहीं दर्ज है।

- बृजेश सिंह, थानाध्यक्ष पवई

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें