ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश आजमगढ़एफपीओ से सुधरेगी किसानों की दशा

एफपीओ से सुधरेगी किसानों की दशा

कृषि विज्ञान केंद्र कोटवां में बुधवार को रबी उत्पादकता गोष्ठी का आयोजन हुआ। मंडलायुक्त मनीष चौहान ने कहा कि एफपीओ के लिए सरकार द्वारा...

एफपीओ से सुधरेगी किसानों की दशा
हिन्दुस्तान टीम,आजमगढ़Wed, 21 Feb 2024 10:15 PM
ऐप पर पढ़ें

आजमगढ़, संवाददाता।
कृषि विज्ञान केंद्र कोटवां में बुधवार को रबी उत्पादकता गोष्ठी का आयोजन हुआ। मंडलायुक्त मनीष चौहान ने कहा कि एफपीओ के लिए सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं से अनुदान उपलब्ध कराया जा रहा है। डेयरी, बीज उत्पादन, खाद्य प्रसंस्करण इत्यादि क्षेत्रों में एफपीओ के लिये बहुत अच्छा अवसर है।

मंडलायुक्त ने कहा कि शक्ति पोर्टल पर उपलब्ध आंकडों के अनुसार आजमगढ़ में 19, मऊ में 13 तथा बलिया में 60 एफपीओ पंजीकृत हो चुके हैं। एफपीओ सलाहकार डॉ. अपूर्व सिंह ने योजना की जानकारी देते हुए बताया गया कि एफपीओ किसानों द्वारा बनाया गया एक स्वयं सहायता समूह है। जहां किसान ही किसान को मदद करते हैं। एफपीओ से जुडे़ कृषकों को उनके विजनेस माडल के आधार पर सस्ते दामों पर बीज, खाद, उर्वरक ,कीटनाशक, मशीनरी ,ग्रीन हाउस, पाली हाउस, कृषि तकनीक, मार्केट लिंकेज, टे्रनिंग, नेटवर्किग, आर्थिक मदद तथा तकनीकी सहयोग उपलब्ध कराया जाता है। जिससे एफपीओ से जुड़े किसानों की आय बढ़ सके और वे आत्मनिर्भर बन सकें। जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने कहा कि कृषकों की आय दोगुना करना एक राष्ट्रीय संकल्प है। जिसमें एफपीओ का महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। एफपीओ को सफलतापूर्वक संचालित करने के लिये तथा बैंक से वित्तीय सहायता प्राप्त करने के लिए लीडरशीप, प्रक्रियाओं का ज्ञान तथा मार्केट की समझ को बढ़ाना बहुत आवश्यक है। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी मऊ सहित मंडल के उप कृषि निदेशक भूमि संरक्षण, कृषि रक्षा एवं शोध तथा जनपद आजमगढ, मऊ एवं बलिया से उप कृषि निदेशक, जिला कृषि अधिकारी, जिला कृषि रक्षा अधिकारी, भूमि संरक्षण अधिकारी, उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

नहर में पानी छोडे़ जाने की ग्रामीणों ने की मांग

बरदह। स्थानीय क्षेत्र शारदा सहायक खंड-23 रजवाहा नहर में पानी नहं आने से गेहूं की फसल की सिंचाई नहीं हो पा रही है। रजवाहा में पानी न आने से फसलें मुरझा रही है। इसे लेकर क्षेत्र के किसान काफी परेशान हैं। क्षेत्र के विनोद राय,जोगेंद्र राय,अशोक मौर्या ने रजवाहा में पानी छोडे़ जाने की मांग की है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें