DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › आजमगढ़ › बाजार की सड़कों पर अतिक्रमण से लगता है जाम
आजमगढ़

बाजार की सड़कों पर अतिक्रमण से लगता है जाम

हिन्दुस्तान टीम,आजमगढ़Published By: Newswrap
Tue, 27 Jul 2021 03:21 AM
बाजार की सड़कों पर अतिक्रमण से लगता है जाम

आजमगढ़। संवाददाता

शहर से लेकर गांव देहात के सभी छोटी-बड़ी बाजार की सड़कों पर अतिक्रमण है। आधी सड़क तक अतिक्रमण होने से वाहनों के आने-जाने में परेशानी होती है और प्राय: यहां जाम लगा रहता है। कई बार इसको लेकर स्थानीय दुकानदार और वाहन चालकों के बीच विवाद के बाद मारपीट की नौबत आ जाती है। जाम लगने से लोगों का काफी समय अनावश्यक खर्च होता है। सड़कों के अतिक्रमण हटाने के लिए कई बार अभियान चलाया गया, लेकिन अब तक इस समस्या का कोई ठोस हल नहीं निकल सका।

मुख्य चौक : सड़क पर जाम लगने से होती है परेशानी

आजमगढ़। शहर के मुख्य चौक की गिनती सबसे व्यस्त मुहल्लों में की जाती है। मुख्य चौक पर ही दक्षिण मुखी देवी का मंदिर है। यहां दर्शन पूजन करने के लिए भी बड़े पैमाने पर भक्तगण आते हैं। इसके अलावा मुख्य चौक पर ज्यादातर लोग सामानों की खरीदारी करने के लिए भी आते हैं। ऐसे में यहां प्राय: भीड़ रहती है। चौक के ज्यादातर दुकानदार अपने सामने की सड़क पर अतिक्रमण करके सामान रखते हैं। सड़क पर अतिक्रमण होने की वजह से आने-जाने में परेशानी होती है और जाम लग जाता है। अतिक्रमण हटाने के लिए कई बार मुहिम चली, लेकिन सब बेअसर साबित हुई।

सिविल लाइन मुहल्ल: पटरी और सड़क पर खड़े रहते हैं वाहन

आजमगढ़। रोडवेज या दीवानी कचहरी से होते हुए शहर में प्रवेश करने के लिए सिविल लाइन मुहल्ले की ओर से ही जाना पड़ता है। सिविल लाइन मुहल्ले में कई प्रमुख दफ्तर, बैंक और एटीएम मशीनें लगने की वजह से यहां बड़े पैमाने पर लोग आते हैं। सिविल लाइन मुहल्ले में वाहन पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में सभी छोटे-बड़े वाहन यहां सड़क की पटरी से लेकर आधी सड़क छेंककर खड़े कर दिए जाते हैं। ऐसे में एक साथ दो वाहनों के आ जाने से यहां जाम लग जाता है। बेवजह लगने वाले जाम में सभी लोग परेशान होते हैं, लेकिन समस्या से निजात नहीं मिल सकी।

नपं सरायमीर: अब तक कोई ठोस उपाय नहीं हुआ

सरायमीर। नगर पंचायत सरायमीर काफी घना है। यहां के लगभग सभी छोटी-बड़ी सड़कों पर अतिक्रमण किया गया है। सड़कों पर अतिक्रमण किए जाने से यहां अक्सर जाम लगा रहता है। एक बार जो जाम में फंस जाता है। उसका 20 से 30 मिनट बेकार चला जाता है। कस्बे के मवेशी खाना, पुलिस बूथ, नई बाजार तिराहा, सब्जी मंडी मुहल्ला, पुराना थाना, चौक सभी जगहों का यही हाल है। दुकानदार खुद अपनी दुकान के सामने दो-दो दुकान का सामान बाहर रखकर अतिक्रमण किए हुए हैं। अतिक्रमण हटाने का अब तक कोई ठोस उपाय नहीं हो सका।

मुबारकपुर : दुकानदारों पर नहीं की जा रही कार्रवाई

मुबारकपुर। नगर पालिका परिषद मुबारकपुर क्षेत्र में बढ़ते अतिक्रमण के कारण लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। ठेला खोमचा वालों के साथ ही दुकानदार अपनी दुकान सड़क पर बढ़ा कर लगा रहे हैं। कई मुहल्लों में दुकानदारों की तरफ से सड़क की पटरी के अलावा सड़क पर भी अतिक्रमण कर लिए हैं। मुबाकपुर कस्बा की काफी घनी आबादी है। यहां आसपास के अलावा दूर दराज के लोग भी आते हैं। यहां सड़क संकरी हो जाने से आये दिन जाम की स्थित बनी रहती है। इस समस्या को लेकर पुलिस व नपा प्रशासन मूकदर्शक बनी हुई है, जबकि लोगों को खामियाजा भुगतना पड़ रहा।

बिलरियागंज : लोगों की शिकायतों पर भी नहीं दिया ध्यान

बिलरियागंज। नगर पंचायत बिलरियागंज में पहले प्रत्येक बुधवार को और शनिवार को बाजार लगती थी। ऐसे में यहां जाम की स्थिति उत्पन्न रहती थी, लेकिन वर्तमान समय में बाजार में आए दिन जाम लग रहा। इसका मुख्य कारण सड़क की पटरियों पर दुकानदारों द्वारा किया गया अतिक्रमण है। पटरी और सड़क पर अतिक्रमण की वजह से वाहनों को आने-जाने में काफी परेशानी हो रही। यहां अक्सर जाम लगा रहता है। बाजार के लोगों की तरफ से अतिक्रमण हटाने के लिए कई बार अधिकारियों से मिलकर शिकायत की गई, लेकिन अभी तक उस पर अमल नहीं हो सका।

संबंधित खबरें