DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक से कैश की किल्लत से मची मारामारी

तहसील क्षेत्र के कुशलगांव बाजार स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में कैश की किल्लत को लेकर मारामारी मची हुई है। नोटबंदी के इतने दिनों बाद भी बैंक से कैश न मिलने से उपभोक्ताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जरूरी काम के लिए कैश न मिलने व बैंककर्मियों के दुर्व्यवहार से उपभोक्ताओं में आक्रोश व्याप्त है, जो कभी भी फूट सकता है। केन्द्र सरकार द्वारा नोटबंदी लागू करने के छह माह बाद भी मार्टीनगंज तहसील के कुशलगांव स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में कैश के लिए मारामारी मची हुई है। क्षेत्रीय उपभोक्ताओं का कहना है कि बैंककर्मी द्वारा आये दिन कैश किल्लत का बहाना बनाकर परेशान किया जा रहा है। बैंक कर्मचारियों द्वारा मनचाहे लोगों को मनचाही रकम प्राप्त हो जा रही है। जबकि जरूरतमंद लोगों को आये दिन बैंक का चक्कर लगाना पड़ रहा है। नोटबंदी के इतने माह भी व्यवस्था पटरी पर न आने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गुरुवार को भी बैंक पर कैश लेने के लिए क्षेत्रीय उपभोक्ताओं की लंबी कतारे लगी हुई थी। बैंक पर आये लोगों को केवल दस हजार से ही संतोष करना पड़ रहा है। जबकि लाइन में खड़े लोगों का कहना है कि उनके घरों में शादी-विवाह का कार्यक्रम पड़ा हुआ है लेकिन जरूरत के मुताबिक बैंक से पैसा नहीं मिल पा रहा है। इससे शादी-विवाह की तैयारियां करने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। इससे क्षेत्रीय उपभोक्ताओं का गुस्सा बढ़ रहा है। इस संबंध में शाखा प्रबंधक राजेश सरोज ने कहा कि बैंक में कैश कम होने के कारण लोगों को अधिकतम दस हजार ही दे पा रहे हैं। जल्द ही कैश की किल्लत खत्म हो जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bank cash dispute