ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश अयोध्याअदालत के आदेश पर डेढ़ वर्ष बाद धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज

अदालत के आदेश पर डेढ़ वर्ष बाद धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज

भ़दरसा संवाददाता। अदालत के आदेश पर लोन देने के बाद धोखाधड़ी करने के आरोपी पर

अदालत के आदेश पर डेढ़ वर्ष बाद धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज
default image
हिन्दुस्तान टीम,अयोध्याThu, 20 Jun 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

भ़दरसा संवाददाता। अदालत के आदेश पर लोन देने के बाद धोखाधड़ी करने के आरोपी पर मुकदमा दर्ज हुआ है। घटना पूराकलन्दर थाना क्षेत्र के अमौना गांव की है। जहां आरोपी ने प्राइवेट फाइनेंस कम्पनी की फ्रेंचाइजी लेकर लोन दिया था। लोन जमा करने के दौरान फर्जी रसीद थमा दी। जिसमें पुलिस ने शिकायत के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी। अमौना गांव निवासी पंकज कुमार का आरोप है कि महेश मिश्रा ने एक प्राइवेट फाइनेंस कंपनी की फेंचाइजी लेकर लोगों को लोन देना शुरू किया। उसी कम्पनी से उसने पचास हजार रुपए लोन लिया और धीरे-धीरे कर पूरा पैसा जमा कर दिया। लेकिन महेश मिश्रा ने जालसाजी करके फर्जी रसीद दे दिया।

पंकज ने बताया कि लगभग डेढ़ वर्ष पूर्व कम्पनी के उच्च अधिकारी ने फोन कर बताया कि तुम्हारा 75067 रुपए लोन बकाया है। उसने जमा पैसे की रसीद दिखाई तो पता चला कि रसीद फर्जी है। पुलिस के रिपोर्ट दर्ज नहीं दर्ज करने पर उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया तो अदालत से रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश जारी हुआ। पूराकलन्दर थानाध्यक्ष रतन कुमार शर्मा ने बताया कि महेश मिश्रा पुत्र हरिशंकर मिश्र निवासी अमौना और कम्पनी के कर्मचारी विमल मित्र तथा पुनीता मिश्रा व अन्य के विरुद्ध धोखाधड़ी, जालसाजी सहित कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना शुरू कर दिया गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।