Vehicles wandering patients - वाहनों का टोटा, भटकते रहे मरीज DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाहनों का टोटा, भटकते रहे मरीज

वाहनों का टोटा, भटकते रहे मरीज

लोक सभा चुनाव में बसों का अधिग्रहण के चलते यात्री बसों का टोटा हो गया है।

कानपुर व इटावा की ओर जाने वाले यात्रियों को वाहन मिल जा रहे हैं। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों के लिए लोग बसों का इंतजार करते रहते हैं। अंत में मायूस होकर लोगों को डग्गामार वाहनों का सहारा लेना पड़ा।

शुक्रवार को ग्रामीण इलाकों की ओर संचालित बसों का आवागमन ठप रहा। यात्री घंटों रोडवेज बस स्टॉप के बाहर बनी दुकानों व प्रतीक्षालय में बैठकर बसों के जाने के इंतजार करते रहे। बसें न मिलने से यात्रियों को काफी दिक्क्त का सामना करना पड़ा। कानुर इटावा की ओर जाने वाली बसें तो लोगों को इंतजार के बाद नसीब हो गईं। लेकिन कंचौसी, रसूलाबाद जाने के लिए लोगों को इंतजार के बाद भी कोई साधन न मिला। बाद में सवारियों को मायूस होकर डग्गामार वाहनों का सहारा लेना पड़ा। औरैया से रसूलाबाद होते हुए दिल्ली जाने के लिए विभाग की ओर से दो बसें संचालित हैं। लेकिन काफी दिनों से केवल एक ही बस चल रही है। शुक्रवार को वह बस भी खराब हो गई थी। जिसके चलते यात्रियों को घंटों इंतजार करने के बाद निराश होना पड़ा। इसके अलावा वाहनों की कमी के चलते डग्गामार वाहनों में भी ओवर लोड सवारियां भरीं जा रहीं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Vehicles wandering patients