DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेले के बाद तिगरीवासियों के हिस्से आई गंदगी

मेले के बाद तिगरीवासियों के हिस्से आई गंदगी

1 / 2-गंगा तट के साथ ही आस-पास जमा गंदगी के ढेर मेला समापन के बाद तिगरीधाम में जहां-तहां गंदगी के ढेर जमा हैं। श्रद्धालु और दुकानदार जहां यहां से कूच कर चुके हैं तो वहीं ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना...

मेले के बाद तिगरीवासियों के हिस्से आई गंदगी

2 / 2-गंगा तट के साथ ही आस-पास जमा गंदगी के ढेर मेला समापन के बाद तिगरीधाम में जहां-तहां गंदगी के ढेर जमा हैं। श्रद्धालु और दुकानदार जहां यहां से कूच कर चुके हैं तो वहीं ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना...

PreviousNext

-गंगा तट के साथ ही आस-पास जमा गंदगी के ढेर-ग्रामीणों को करना पड़ रहा परेशानी का सामनाफोटो 24 जीजेएलपी 6 से 8, 10 से 12तिगरीधाम। पुसविंदर सिंह छीतरातिगरीधाम मेले में पहुंचे श्रद्धालुओं ने पुण्य कमाया। कारोबारियों ने भी पुण्यलाभ के साथ धन कमाया। लेकिन तिगरीवासियों के हिस्से में मात्र गंदगी ही आई है। मेला समापन के बाद तिगरीधाम में जहां-तहां गंदगी के ढेर जमा हैं। श्रद्धालु और दुकानदार जहां यहां से कूच कर चुके हैं तो वहीं ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।उत्तर भारत के ऐतिहासिक तिगरी गंगा स्नान मेले में करीब 15 लाख श्रद्धालुओं ने पुण्य लाभ कमाया। मेले में मौजमस्ती भी की। सप्ताह भर से अधिक समय से मेले में लाखों श्रद्धालु तंबू लगाकर रात्रि में गंगा की रेती पर ही ठहरे। ब्रहममुहूर्त में गंगास्नान के बाद खिचड़ी का आनंद लिया। दिन भर मेले में मौजमस्ती का माहौल रहा। मेले में स्थित झूलों व मनोरंजन के साधनों पर भी खूब मौजमस्ती की। तिगरीधाम में पहुंचे दुकानदारों ने कारोबार करके कमाई की। लेकिन गांव में एक सप्ताह से अधिक समय तक आयोजित मेले से तिगरीवासियों को कुछ भी हासिल नहीं हुआ। बाहर से आए श्रद्धालुओं ने मेले में मौजमस्ती की। मेला समाप्ति के बाद घाट किनारे गंदगी के ढेर तिगरीवासियों के हिस्से आई है। तिगरीवासियों का कहना है कि गांव में आयोजित होने वाले मेले से उन्हें कुछ भी नहीं हासिल होता है। घाट किनारे लाखों श्रद्धालुओं के सप्ताह भर रहकर गंदगी के ढेर छोड़ जाने से उठने वाली बदबू से ग्रामीणों का जीना दूभर हो जाता है। जिला पंचायत अधिकारी भी तिगरीधाम मेला निपटने के बाद अपना सामान समेटकर एक वर्ष तक के लिए गायब हो जाते हैं।इंसेट : किसानों ने जलाए कूड़े के ढेरतिगरीधाम। तिगरीधाम मेला परिसर में बहुत से किसानों की कृषि भूमि को खाली कराकर प्रशासन ने मेला लगवाया था। मेला समापन के बाद शनिवार को कुछ किसान मेला स्थल पर पहुंचे और वहां जमा गंदगी के ढेर देखकर चौंक गए। किसानों ने खेत साफ करने के लिए कूड़े के ढेर एकत्र किए और उनमें आग लगा दी। किसानों ने बताया कि उन्हें अपने खेतों में गेहूं की बुआई करनी है। जिस कारण खेत साफ कर रहे हैं।-----------

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tigri residents share dirt after the fair