DA Image
23 जनवरी, 2021|4:52|IST

अगली स्टोरी

घने कोहरे के साथ हुआ नए साल की पहली सुबह का आगाज

घने कोहरे के साथ हुआ नए साल की पहली सुबह का आगाज

1 / 2नए साल की पहली सुबह का आगाज घने कोहरे के साथ हुआ। शुक्रवार का दिन खासा सर्द रहा। ठंड को देख अभिभावकों ने बच्चों को स्कूल तक नहीं भेजा। गलन बढ़ने से...

घने कोहरे के साथ हुआ नए साल की पहली सुबह का आगाज

2 / 2नए साल की पहली सुबह का आगाज घने कोहरे के साथ हुआ। शुक्रवार का दिन खासा सर्द रहा। ठंड को देख अभिभावकों ने बच्चों को स्कूल तक नहीं भेजा। गलन बढ़ने से...

PreviousNext

गजरौला। हिन्दुस्तान संवाद

नए साल की पहली सुबह का आगाज घने कोहरे के साथ हुआ। शुक्रवार का दिन खासा सर्द रहा। ठंड को देख अभिभावकों ने बच्चों को स्कूल तक नहीं भेजा। गलन बढ़ने से लोग कंपकपाते नजर आए। दोपहर में धूप खिलने के बाद भी सर्दी का अहसास कम नहीं हो सका। शाम होते ही मौसम में गलन बढ़ गई। घर, दुकान और सार्वजनिक स्थानों पर दिन भर अलाव जलते रहे।

जनवरी की शुरुआत में ही कोहरे की घनी चादर ने अपना असर दिखाया। गुरुवार रात से आसमान में कोहरे की चादर छानी शुरू हो गई। रात नौ बजे तक धुंध छा गई। शुक्रवार का सवेरा भी घने कोहरे के साथ हुआ। कोहरे की चादर दोपहर 12 बजे तक आसमान में छाई रही। बच्चे ठिठुरते हुए स्कूल पहुंचे। कई अभिभावकों ने कोहरे के चलते बच्चों को स्कूल तक नहीं भेजा। दोपहर साढ़े 12 बजे धूप निकलने के बाद भी सर्दी से राहत नहीं मिल सकी। गलन के चलते बुजुर्ग दिनभर रजाई में कैद रहे। दोपहर में महिलाएं धूप को देख कर छत पर पहुंची, लेकिन सर्द हवा तीखी धूप में भी कंपकपी छुड़ाती रही। शाम ढलने के साथ ही मौसम में ठंडक बढ़ गई। सर्दी का असर सरकारी दफ्तरों से लेकर बाजारों तक में नजर आया। बाजार में आम दिनों की तुलना में भीड़ कम रही तो दफ्तरों में भी फरियादियों की संख्या न के बराबर ही रही। सर्दी के चलते बाजार जल्दी बंद हो गए। शहर के नुक्कड़ एवं सार्वजनिक स्थानों पर छह बजे से ही अलाव जलने लगे। कोहरे के चलते नेशनल हाईवे पर यातायात भी प्रभावित रहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The first morning of the new year begins with dense fog