DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद से सराय काले खां तक बस चलाता था फर्जी एसीपी

बेरोजगार युवक युवतियों को सरकारी नौकरी लगवाने और गाजियाबाद तथा नोएडा में फ्लैट दिलवाने के नाम पर 50 लाख से अधिक की ठगी के आरोप में जेल गया दिल्ली पुलिस का फर्जी एसीपी बस चलाता था। गाजियाबाद से सराय काले खां तक प्राइवेट बस चलाते समय उसकी मुलाकात एक महिला से हुई। जिसका पति रेलवे में नौकरी करता है। गाजियाबाद की महिला को फंसाने के बाद ठगी के धंधे में गहरी जड़ें जमा लीं। सदर कोतवाली पुलिस द्वारा 20 फरवरी को जेल भेजा गया दिल्ली पुलिस का फर्जी एसीपी संजय चौधरी उर्फ अयूब खान बस का चालक था। वह गाजियाबाद पुराने बस अडडे से दिल्ली सराय काले खां तक बस चलाता था। गाजियाबाद के मालीवाड़ा निवासी रानी नाम की महिला का पति रेलवे में नौकरी करता था। रानी बस से दिल्ली आती जाती थी। बस में ही संजय चौधरी उर्फ अयूब खान से रानी की की मुलाकात हुई। वह तीन लड़कियों और एक बेटे की मां है। फर्जी एसीपी ने सबसे पहले रानी को उसकी बेटी और बेटे की नौकरी लगवाने का झांसा देकर ठगा। पुलिस के मुताबिक उसका घर मकान सब कुछ बिकवा दिया। बाद में रानी भी उसके साथ काम करने लगी। दोनों ने मिल कर कई लोगों को शिकार बनाया।पुलिस को रानी की भी तलाश है। वह फरार चल रही है। पुलिस ने उसकी धर पकड़ को कई जगह दबिश दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The fake ACP operate bus from Ghaziabad to Sarai Kale Khan