SWAT and surveillance team dissolved spot five lines including both the charge - स्वाट व सर्विलांस टीम भंग, दोनों के प्रभारी समेत पांच लाइन हाजिर DA Image
18 नबम्बर, 2019|4:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वाट व सर्विलांस टीम भंग, दोनों के प्रभारी समेत पांच लाइन हाजिर

अमरोहा देहात थाना क्षेत्र में पिता-पुत्र सर्राफ को लूटने में फरार चल रहे बदमाश को पुलिस, स्वाट व सर्विलांस टीम पकड़ने में नाकाम रही। पुलिस को चकमा देकर लूट के आरोपी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। एसपी ने कड़ी कार्रवाई करते हुए स्वाट व सर्विलांस टीम को भंग कर दिया। दोनों के प्रभारी समेत स्वाट टीम के तीन सिपाहियों को लाइन हाजिर किया है।

अमरोहा देहात थाना क्षेत्र के गांव रघुनाथपुर निवासी पिता-पुत्र सर्राफा व्यापारी से 26 जून की रात दो बाइकों पर सवार चार बदमाशों ने लूट की थी। दोनों को घायल कर बदमाश आभूषण से भरा बैग लूटकर ले गए थे। दो बदमाशों को पुलिस ने वहां मौजूद लोगों की मदद से पकड़ लिया था। उनका चौथा साथी मनीष निवासी पूरनपुर कोतवाली डिडौली भागने में कामयाब रहा था। उसकी धरपकड़ के लिए एसपी ने अमरोहा देहात थाना पुलिस के साथ ही स्वाट व सर्विलांस टीम को भी लगाया था। तीनों ही टीम उसे पकड़ने में नाकाम रहीं। उधर, इस बीच उसने पुलिस को चकमा देते हुए कोर्ट में सरेंडर कर दिया। एसपी ने इस पर कड़ी कार्रवाई की। शनिवार को स्वाट व सर्विलांस टीम भंग कर दी। स्वाट प्रभारी मोहित चौधरी, सर्विलांस प्रभारी राजीव शर्मा, स्वाट टीम में शामिल सिपाही विजय शर्मा, गौरव शर्मा व विवेक कुमार को लाइन हाजिर किया। एसपी की कार्रवाई से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। एसपी डा.विपिन ताड़ा के मुताबिक फिलहाल नई टीम का गठन नहीं किया गया है। जल्द ही सर्विलांस व स्वाट टीम गठित की जाएगी। नए व तेज तर्रार पुलिसकिर्मयों को इसमें शामिल किया जाएगा।कई थाना प्रभारियों पर भी गिर सकती है गाजअमरोहा। जिले में सात भगोड़ा समेत कई इनामी बदमाश फरार चल रहे हैं। तमाम कोशिश के बाद भी वह पुलिस की पकड़ से दूर हैं। लूट, हत्या की कई वारदातों का खुलासा भी इसके चलते नहीं हो सका है। वहीं हत्या के पुराने मामले में भी कई अपराधी फरार चल रहे हैं। एसपी के तेवर इसको लेकर तल्ख हैं। ऐसे में बड़ी संभावना है कि जल्द ही ऐसी बड़ी वारदातों का खुलासा करने के साथ ही अपराधियों की धरपकड़ में नाकाम दूसरे पुलिसकर्मियों व थाना प्रभारियों पर भी कार्रवाई की गाज गिर सकती है।दो साल पहले भी भंग हुई थी एसओजीअमरोहा। अमरोहा में दो साल पूर्व तत्कालीन एसपी संतोष कुमार मिश्रा ने भी एसओजी टीम को भंग किया था। उस समय एसओजी पर चोरी की कार को नंबर प्लेट बदल कर चलाने का आरोप लगा था। जांच में आरोप पुष्ट होने पर टीम को भंग कर पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:SWAT and surveillance team dissolved spot five lines including both the charge