DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीनी मिलों ने गन्ना सर्वे करने से खड़े किए हाथ

जिले की चीनी मिल समेत दूसरी चीनी मिलों ने किसानों के गन्ना सर्वे करने से हाथ खड़े कर दिए हैं। शुगर मिल एसोसिएशन ने जिला गन्ना अधिकारी को बकायदा एक पत्र दिया हैं। जिसमें कहा कि इस बार गन्ने के सर्वे नहीं किया जाएगा। एसोसिएशन की कुछ मांगे सीएम के पास लंबित है। चीनी मिल बंद हो गई, लेकिन किसानों का गन्ना भुगतान नहीं किया गया। अब गन्ने का सर्वे होना है। इस संबंध में गन्ना अधिकारियों ने निजी चीनी मिलों को नोटिस जारी किया था कि गन्ने सर्वे कराया जाए, लेकिन शुगर मिल एसोसिएशन ने नोटिस का जवाब देते हुए साफ तौर पर मना कर दिया कि चीनी मिल गन्ने का सर्वे नहीं कराएगा। इस संबंध में जिला गन्ना अधिकारी को एक पत्र भी दिया जा चुका है। अगर चीनी मिलों ने गन्ना सर्वे नहीं किया,तो एक बड़ी समस्या खड़ी हो जाएगी। एसोसिएशन का कहना है कि अपनी मांगों को लेकर एक मांग पत्र सीएम को दे रखा है। उस पर निर्णय होना है। इससे पहले गन्ना सर्वे नहीं किया जाएगा। गन्ना समिति और परिषद के कर्मी करेंगे सर्वेचीनी मिलों ने गन्ना सर्वे न करने के संबंध में पत्र दिया है, लेकिन गन्ना सर्वे तो होना है। इसलिए गन्ना विकास समिति और गन्ना विकास परिषद के कर्मी गन्ना सर्वे का काम करेंगे। जल्द काम शुरु कर दिया जाएगा। विजय बहादुर सिंह, जिला गन्ना अधिकारी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sugar mills refused to do sugarcane survey