DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सावन के पहले सोमवार पर जलाभिषेक को शिव मंदिरों में उमड़ा रहा श्रद्धालुओं का सैलाब

सावन के पहले सोमवार पर जलाभिषेक को शिव मंदिरों में उमड़ा रहा श्रद्धालुओं का सैलाब

1 / 3सावन के पहले सोमवार पर भगवान शिव का अभिषेक करने के लिए शिवालयों में भोर होते ही भक्तों की कतारें लगनी शुरू हो गईं। मंदिर और शिवाले हर-हर महादेव से गूंजने लगे। दिन चढ़ने के साथ ही श्रद्धालुओं की...

सावन के पहले सोमवार पर जलाभिषेक को शिव मंदिरों में उमड़ा रहा श्रद्धालुओं का सैलाब

2 / 3सावन के पहले सोमवार पर भगवान शिव का अभिषेक करने के लिए शिवालयों में भोर होते ही भक्तों की कतारें लगनी शुरू हो गईं। मंदिर और शिवाले हर-हर महादेव से गूंजने लगे। दिन चढ़ने के साथ ही श्रद्धालुओं की...

सावन के पहले सोमवार पर जलाभिषेक को शिव मंदिरों में उमड़ा रहा श्रद्धालुओं का सैलाब

3 / 3सावन के पहले सोमवार पर भगवान शिव का अभिषेक करने के लिए शिवालयों में भोर होते ही भक्तों की कतारें लगनी शुरू हो गईं। मंदिर और शिवाले हर-हर महादेव से गूंजने लगे। दिन चढ़ने के साथ ही श्रद्धालुओं की...

PreviousNext

सावन के प्रथम सोमवार को भगवान आशुतोष का जलाभिषेक करने के लिए भोर होते ही शिवालयों में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। शहर समेत जिले के प्रसिद्ध मंदिरों में अभिषेक हुआ। कांवड़ में लाए गंगा जल से शिवभक्तों ने महादेव का जलाभिषेक किया। सोमवार का व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं का भी पूजा अर्चना को मंदिरों में तांता लगा रहा।

श्रद्धालुओं ने विधिविधान से आराध्य देव की पूजा अर्चना कर परिवार की खुशहाली की कामना की। घंटों की ध्वनि, शंखनाद और महादेव के जयघोष से शिवालय गूंज उठे। प्रशासन द्वारा शिवालयों के बाहर सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम रहे।

सोमवार की भोर होते ही शहर के वासुदेव तीर्थ स्थल पर महादेव का जलाभिषेक करने के लिए कांवड़िए और शिवभक्तों की भीड़ उमड़नी शुरू हो गई थी। भीड़ के चलते लाइन में लगकर श्रद्धालुओं को महादेव का जलाभिषेक करना पड़ा। दूर तक लबी कतार लगी रही। शिवभक्तों ने गंगाजल, पेल पत्र आदि से आराध्य देव का अभिषेक किया। सोमवार का व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं का भी पूजा अर्चना और अभिषेक को तांता लगा रहा।

यहां के अलावा बाबा गंगानाथ मंदिर, चौरसी घंटे वाला मंदिर, रियासत वाला मंदिर, नौगावां सादात के प्राचीन शिव मंदिर गजस्थल, जोया के शिव मंदिर, गहलौलपुर के शिव मंदिर, गजरौला के चाकेश्वर शिव मंदिर, हसनपुर के शिवाला कला, धनौरा के पत्थर कुटी शिव मंदिर समेत प्रसिद्ध शिवालयों में जलाभिषेक हुआ।

बाबा गंगा नाथ मंदिर के समिति अध्यक्ष पंड़ित आशुतोष त्रिवेदी ने बताया कि सोमवार को पूरे दिन जलाभिषेक करने का महत्व होता है। आस्था और विश्वास के साथ पूजा अर्चना करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। शाम हो महाआरती की जाएगी। श्रद्धालुओं को नियम संयम से रहते हुए आराध्य देव का ध्यान करना चाहिए।

एक हजार से अधिक लोगों ने किया अभिषेक

वासुदेव तीर्थ स्थल प्रबंध कमेटी अध्यक्ष शिव स्वरूप टंडन ने बताया कि एक हजार से अधिक श्रद्धालु अब तक जलाभिषेक कर चुके हैं। शाम तक जलाभिषेक का सिलसिला जारी रहेगा। मंदिर परिसर की साफ-सफाई से लेकर भव्य सजावट की गई है। पूरे सावन मंदिर में श्रद्धालुओं का भीड़ रहती है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के कडे़ इंतजाम किए गए हैं। मंदिर के चारों ओर सीसी टीवी कैमरे लगे हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jalabhishek is seen in Shiva temples on the first Monday of Savan