DA Image
30 नवंबर, 2020|7:49|IST

अगली स्टोरी

बूथों पर ही बनेगा पोलिंग पार्टियों के लिए खाना

default image

अमरोहा। निज संवाददाता

पोलिंग पार्टियों के खाने की व्यवस्था मतदान केंद्रों पर ही उपलब्ध रहेगी। बाहर से खाने के पैकेट नहीं आएंगे। मिड-डे मिल बनाने वाले रसोइया ही खाना बनाएंगे। रसोईयों को खाना बनाते समय खाने की गुणवत्ता और साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना होगा। बूथों पर हाथ धुलने के लिए पानी और साबुन की व्यवस्था भी रहेगी। गुरुजी को खाने की गुणवत्ता की निगरानी करनी होगी। बीएसए द्वारा इस संबंध में प्रधान अध्यापकों का निर्देशित किया गया है।

उप चुनाव का मतदान तीन नवंबर को होना है। 489 बूथों पर मतदान होगा। अधिकांश मतदान केंद्र बेसिक स्कूलों में बनाए गए हैं। सोमवार की शाम को पोलिंग पार्टियां बूथों पर पहुंच जाएंगी। पोलिंग पार्टियों के लिए बाहर से खाना नहीं आएगा। राजनैतिक दल व प्रत्याशी भी पोलिंग पार्टियों को खाना नहीं परोस सकेंगे। इस पर प्रतिबंध है। पोलिंग पार्टियों के खाने की व्यवस्था बूथों पर रहेगी। बेसिक स्कूलों में मिड-डे मील बनाने वाले रसोईया ही पोलिंग पार्टियों के लिए खाना बनाएंगे। संबंधित स्कूल के प्रधान अध्यापक को पोलिंग पार्टियों के लिए बनने वाले खाने की गुणवत्ता पर ध्यान रखना होगा। रसोईया को साफ-सफाई के साथ खाना बनाना होगा। गुणवत्ता युक्त खाद्य तेल व मसालों का खाने में इस्तेमाल करना होगा। दो नवंबर की शाम को ही पोलिंग पार्टियों के लिए बूथों पर खाना बनेगा। तीन नवंबर को मतदान वाले दिन भी दिन में खाना बनेगा। बीएसए चंद्र शेखर ने इसकी पुष्टि की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Food for polling parties will be made at booths