DA Image
18 जनवरी, 2021|9:17|IST

अगली स्टोरी

चार जनवरी को होने वाली वार्ता पर टिकी किसान संगठनों की निगाह

default image

अमरोहा। निज संवाददाता

कृषि विधेयक के विरोध में किसान संगठनों के दिल्ली कूच करने का सिलसिला जारी है। किसान दिल्ली पहुंचकर किसान आंदोलन की आवाज को बुलंद कर रहे हैं। शुक्रवार को भी 50 से ज्यादा किसान दिल्ली रवाना हुए। चार जनवरी को होने वाली वार्ता के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन अलर्ट हो गया है। किसान संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। नेशनल हाईव पर पहरा बैठा दिया गया है।

कृषि विधेयक के विरोध में दिल्ली में किसान संगठनों का धरना जारी है। कड़ाके की सर्दी में धरने पर बैठे किसानों को एक माह से अधिक समय बीत गया है। लेकिन अभी तक सुनवाई नहीं हुई है। जिले के किसान संगठनों से जुड़े लोग भी किसान आंदोलन में भाग ले रहे हैं। रोजाना किसानों का दिल्ली जाने और वापस लौटकर आने का सिलसिला जारी है। चार जनवरी को होने वाली वार्ता पर किसान संगठनों की नजर टिकी है। किसान संगठनों का कहना है कि यदि वार्ता सफल नहीं होती है तब आंदोलन बड़ा रूप लेगा। भाकियू असली राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि शुक्रवार को भी जिले से 50 किसान दिल्ली रवाना हुए हैं। जब तक किसानों की मांग नहीं मानी जाएगी, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। भाकियू भानू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी दिवाकर सिंह का कहना है कि उम्मीद है चार जनवरी को होने वाली वार्ता सफल रहेगी। यदि वार्ता सफल नहीं होती है तब आंदोलन जारी रहेगा। संगठन से जुड़े किसान दिल्ली पहुंचकर किसान आंदोलन की आवाज को बुलंद कर रहे हैं। उधर, किसान आंदोलन के चलते पुलिस-प्रशासन अलर्ट मोड पर है। किसान संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। नेशनल हाईवे पर अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। खुफिया विभाग भी अलर्ट है, किसानों की हर एक गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmers 39 organizations eyeing talks on January 4