ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश अमरोहानिजी अस्पताल में उपचार के दौरान किसान की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

निजी अस्पताल में उपचार के दौरान किसान की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

खांसी की शिकायत होने पर शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराए गए किसान की मौत हो गई। डाक्टर व स्टाफ पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए...

निजी अस्पताल में उपचार के दौरान किसान की मौत, परिजनों ने किया हंगामा
हिन्दुस्तान टीम,अमरोहाSun, 10 Dec 2023 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

खांसी की शिकायत होने पर शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराए गए किसान की मौत हो गई। डाक्टर व स्टाफ पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए परिजनों ने अस्पताल के बाहर हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बमुश्किल समझा बुझाकर गुस्सा शांत कराया। हालांकि बाद में अस्पताल प्रबंधन से समझौता हो जाने पर पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर परिजन शव घर ले गए।
नौगावां सादात थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी 50 वर्षीय किसान का बीते कई दिन से स्वास्थ्य खराब चल रहा था। खांसी के साथ सांस लेने में परेशानी होने पर शनिवार दोपहर परिजनों ने उन्हें शहर के मोहल्ला लकड़ा स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया। बताया जा रहा है कि दो घंटे तक चले उपचार के बावजूद किसान की हालत में कोई सुधार नहीं हुआ और शाम चार बजे डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। अचानक मौत की बात सुनकर परिजनों का गुस्सा भड़क गया और डाक्टर व स्टाफ पर गलत दवाएं और इंजेक्शन देने का आरोप लगाते हुए उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। खबर मिलते ही गांव से दूसरे रिश्तेदार भी अस्पताल पहुंच गए। भीड़ के बीच हंगामा बढ़ता हुआ देख डाक्टर व स्टाफ अस्पताल से भाग गया। वहीं, सूचना मिलते ही शहर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को समझाकर गुस्सा शांत किया। प्रभारी निरीक्षक सनोज प्रताप सिंह ने बताया कि अस्पताल में मौत को लेकर मिली हंगामे की सूचना पर पुलिस टीम को मौके पर भेजा गया था। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया लिहाजा मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई है। वहीं, बताया जा रहा है दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें